Wednesday, Jul 24 2019 | Time 13:13 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • न्यूनतम वेतन नहीं देने पर होगी सख्त कार्रवाई: सरकार
  • छह महिलाओं सहित आठ जुआरी गिरफ्तार
  • सदर बाजार में इमारत ढही: कोई हताहत नहीं
  • वन अधिनियम में प्रस्तावित संशोधन के विरोध में झामुमो ने किया प्रदर्शन
  • संजीव भट्ट को मानवाधिकारों से वंचित रखा गया: श्वेता भट्ट
  • ट्रम्प के आरोप पर मोदी से सच्चाई सुनना चाहता है देश: अधीर
  • वतन बचाने के लिये कश्मीर मुद्दे का हल निकालना जरूरी- फारूख
  • हिमा दास को सम्मान निधि देने पर विचार करेगी सरकार - कमलनाथ
  • चीन में भूस्खलन में नौ लोगों की मौत
  • शिक्षा के क्षेत्र में गुणवत्ता के लिए समिति बनेगी - कमलनाथ
  • कर्नाटक: याचिका वापस लेने की अनुमति पर गुरुवार को आदेश
  • अवैध रेत खनन मामले में केंद्र, पांच राज्यों को नोटिस
  • बोरिस जॉनसन के ब्रिटेन के प्रधानमंत्री का पद संभालने की उम्मीद
  • हाउसफुल-4 में रैप सांग गायेंगे अक्षय कुमार
  • कंगना के साथ काम करना हमेशा मजेदार : राजकुमार
राज्य


राजनीति दिग्विजय नोटबंदी दो अंतिम मथुरा

भाजपा सरकार विरोधियों को ठिकाने लगाने के लिए सरकारी मशीनरी का दुरूपयोग करने के सवाल पर श्री सिंह ने कहा कि वे सरकारी मशीनरी के दुरूपयोग का एक नमूना दे रहे हैं। सन 2014 से 2018 तक सेन्ट्रल एक्साइज टैक्स बढाकर पेट्रोलियम पदार्थो की कीमते 12 बार बढ़ाई गईं और जनता की जेब से 11 लाख करोड़ निकाल लिया गया । उन्होंने कहा कि पेट्रोल और डीजल की कीमतें अंतर्राष्टीय मूल्य से निर्धारित होती हैं और जब कीमते कम होती है तो जनता को उसका फायदा मिलता है और जब बढ़ती हैं तो जनता उसे वहन करती है। इस मामले में कम कीमत में होने वाले फायदे से जनता को वंचित रखा गया।
सरकार तानाशाही या आपातकाल की ओर बढ़ रही है के सवाल पर उन्होंने कहा कि हकीकत यह है कि फासीवादी शक्तिया प्रजातांत्रिक व्यवस्था को पसंद नहीं करती। इसलिए जब मथुरा में धारा 144 लगाकर धरने और प्रदर्शन पर रोक लगा दी गई है तो उन्हें इस पर आश्चर्य नही है।
श्री सिहं ने मध्यप्रदेश में चुनावी गठबंधन की क्या संभावना पर कहा कि वहां पर कांग्रेस की सरकार बनेगी।
एक अन्य प्रश्न के उत्तर में उन्होंने कहा कि वे भविष्य के सभी चुनाव ईवीएम की जगह बैलेट पेपर से कराने के पक्ष में हैं और यह बात उन्होंने 2002 में ही कह दी थी। उनका कहना था कि किसी भी मशीन को हैक किया जा सकता है।
एससी एसटी के नये अध्यादेश पर उन्होंने कहा कि जब यह लोग विपक्ष में थे तो वे इसे हटाने की बात कहते थे और आज ऐसा कर रहे हैं।
सं तेज
वार्ता
image