Saturday, Jul 11 2020 | Time 18:48 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • उत्तराखंड के छह हज़ार गांव इंटरनेट से जुड़ेंगे : त्रिवेंद्र
  • राजस्थान में 140598 हेक्टेयर में टिड्डी नियंत्रण कार्य किया गया
  • तंदरूस्तों को कोरोना संक्रमित बताने के मामले की सीबीआई या न्यायिक जांच हो: महासभा
  • उप्र में कोरोना के मद्देनजर जारी एडवाइजरी का उल्लंघन,23,66,389 का चालान
  • सहरसा नगर परिषद क्षेत्र रविवार से होगा लॉक
  • बिहार में बेकाबू कोरोना संक्रमण के बीच चुनाव कराने पर सर्वदलीय बैठक बुलाए निर्वाचन आयोग : कांग्रेस
  • मिर्जापुर में 24 और कोरोना पॉजिटिव मिले,संक्रमितों की संख्या 235 पहुंची
  • रूस ने अमेरिका के लड़ाकू विमानों को खदेड़ा
  • दुमका में एनजीटी के आदेश का उल्लघंन करने पर होगी सख्त कार्रवाई
  • उत्तराखंड में शातिर अपराधियों की कसेगी नकेल
  • कांग्रेस-द्रमुक सरकार अल्पमत में : अनबझगन
  • भाजपा जालंधर की शहरी कार्यकारिणी पदाधिकारियो की नियुक्ति
  • जालंधर में रैपिड एंटीजन परीक्षण किट के उपयोग के निर्देश
  • गुरूग्राम के खेल स्टेडियमों में रौनक लौटी, खिलाड़ी करने लगे अभ्यास
  • फोटो कैप्शन: पहला सेट
राज्य » उत्तर प्रदेश


ऐतिहासिक फैसला आने से पहले राम की नगरी पर पहरा सख्त

ऐतिहासिक फैसला आने से पहले राम की नगरी पर पहरा सख्त

अयोध्या, 17 अक्टूबर (वार्ता) दशकों से लंबित विवादित रामजन्मभूमि मामले के फैसले की घड़ी नजदीक आने के साथ अयोध्या में एहतियात के तौर पर सुरक्षा के चाक चौबंद इंतजाम किये गये हैं।

उच्चतम न्यायालय में विवादित रामजन्मभूमि/बाबरी मस्जिद मामले की सुनवाई बुधवार को पूरी हुयी थी जबकि इस मामले का ऐतिहासिक फैसला नवम्बर में आने की उम्मीद है।

पुलिस सूत्रों ने गुरूवार को यहां बताया कि विवादित श्रीरामजन्मभूमि परिसर में सुरक्षा बलों की अतिरिक्त टुकड़ियां तैनात की गयी है। हाईवे से लेकर सरयू नदी के पुल और शहर के आंतरिक मार्गों से लेकर रामकोट तक चप्पे चप्पे पर पुलिसकर्मियों को तैनात कर सुरक्षा घेरा सख्त कर दिया गया है। पुलिस प्रशासन ने नब्बे के दशक में चरम पर रहे मंदिर आंदोलन के दौरान कारसेवकों के जुलूस को रोकने लिये बनाये गयी सभी सुरक्षा चौकियों को पुर्नजीवित कर दिया है।

श्रीरामजन्मभूमि के अधिग्रहीत परिसर की सुरक्षा व्यवस्था को अलग-अलग जोन/कार्डन में विभक्त कर फुल प्रूफ सुरक्षा पहले से की गयी थी। मेकशिफ्ट स्ट्रक्चर में विराजमान रामलला आइसोलेशन जोन में आता है जिसकी सुरक्षा में केन्द्रीय सुरक्षा बल तैनात हैं। इसके अलावा 70 एकड़ के अधिग्रहीत परिसर को रेड जोन माना गया है। यहां भी त्रिस्तरीय बैरीकेडिंग के साथ पर्याप्त सुरक्षा है।

केन्द्रीय सुरक्षा बल के अलावा सिविल पुलिस एवं पीएसी संयुक्त रूप से तैनात है। अधिग्रहीत परिसर के बाहर सम्पूर्ण पंचकोसी परिक्रमा मार्ग को यलोजोन घोषित किया गया है। इस क्षेत्र में सिविल पुलिस तैनात है। यहां पर मण्डल भर के थाना एवं चौकियों के जवानों की ड्यूटियां एक माह के लिये क्रमश: लगायी जाती है।

सूत्रों ने बताया कि दीपोत्सव पर्व पर तो सुरक्षा व्यवस्था के कड़े प्रबंध किये ही गये हैं लेकिन इसके अतिरिक्त अयोध्या मामले की सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई फैसले के बाद सुरक्षा व्यवस्था के लिये शासन से अतिरिक्त फोर्स मांगी गयी है जिसमें दस एएसपी, 25 डिप्टी एसपी, 25 निरीक्षक, 125 उपनिरीक्षक, 700 आरक्षी, 45 महिला उपनिरीक्षक, 100 महिला आरक्षी, 14 उपनिरीक्षक यातायात, 13 मुख्य आरक्षी यातायात, 85 आरक्षी यातायात के अलावा छह कम्पनी पीएसी, दो कम्पनी आरएएफ, एक कम्पनी बाढ़ राहत पीएसी सहित भारी भरकम पुलिस भी शामिल हैं।

सं प्रदीप

वार्ता

More News
कोविड-19 की चुनौतियों के साथ सतर्कता एवं स्वच्छता पर दिया जाय विशेष ध्यान: योगी

कोविड-19 की चुनौतियों के साथ सतर्कता एवं स्वच्छता पर दिया जाय विशेष ध्यान: योगी

11 Jul 2020 | 6:44 PM

लखनऊ, 11 जुलाई(वार्ता) उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोविड-19 की चुनौतियों के साथ-साथ वेक्टर जनित बीमारियों के लिए भी बारिश के मौसम को अत्यन्त संवेदनशील बताते हुए कहा कि इसके लिए आवश्यक है कि सतर्कता व स्वच्छता पर विशेष ध्यान दिया जाए।

see more..
जनसंख्या को नियंत्रित करके ही हम कर सकते है बेहतर कल की कल्पना: योगी

जनसंख्या को नियंत्रित करके ही हम कर सकते है बेहतर कल की कल्पना: योगी

11 Jul 2020 | 6:37 PM

लखनऊ, 11 जुलाई(वार्ता)उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्वस्थ समाज की स्थापना के लिए जनसंख्या स्थिरता को आवश्यक बताते हुए कहा कि जनसंख्या को नियंत्रित करके ही हम अपने बेहतर कल की कल्पना कर सकते है।

see more..
image