Monday, Mar 1 2021 | Time 10:28 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • सेंसेक्स 646अंक और निफ्टी 173अंको की तेजी के साथ खुले।
  • दुनिया की 10 फीसदी से कम आबादी में हैं कोरोना वायरस एंटीबॉडी: डब्ल्यूएचओ
  • मोदी ने एम्स में लगवायी कोरोना वैक्सीन
  • नयी पार्टी शुरू करने की योजना नहीं, रिपब्लिकन को दूंगा समर्थन: ट्रम्प
  • मराठवाड़ा में कोरोना के 639 नये मामले, आठ लोगों की मौत
  • मोदी ने एम्स जाकर लिया कोरोना वैक्सीन का पहला डोज
  • मोदी ने एम्स जाकर लिया कोरोना वैक्सीन का पहला डोज
  • आज का इतिहास (प्रकाशनार्थ 02 मार्च )
  • कोरोना के कारण महाराष्ट्र के हिंगोली में सात दिन का कर्फ्यू
  • अमेरिका लगा सकता है म्यांमार के खिलाफ और पाबंदी
  • पेट्रोल डीजल की कीमतों में लगातार दूसरे दिन टिकाव
  • ट्रम्प ने तीसरी बार राष्ट्रपति पद का चुनाव लड़ने का दिया संकेत
  • 'सीरिया की वायु रक्षा प्रणाली ने इजरायल के रॉकेट हमले को विफल किया'
  • ट्रम्प ने की बिडेन की नीतियों की आलोचना
  • ईरान ने 32 देशों के लोगों के अपने देश में आने पर लगायी रोक
राज्य » बिहार / झारखण्ड


राजग में टूट के दावे के साथ नीतीश को ऑफर देने वालों को झटका : सुशील

राजग में टूट के दावे के साथ नीतीश को ऑफर देने वालों को झटका : सुशील

पटना 07 जनवरी (वार्ता) बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने राष्ट्रीय जनता दल(राजद) अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव के राज्य की कानून-व्यवस्था को लेकर किए जा रहे हमले पर पलटवार करते हुए कहा कि राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) में टूट के दावे के साथ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को ऑफर देने वालों को झटका लगने के बाद प्रदेश की विधि-व्यवस्था में कमी नजर आने लगी है।

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता श्री मोदी ने गुरुवार को ट्वीट किया कि 17वीं विधानसभा के गठन और सभाध्यक्ष के चुनाव के समय से ही जोड़ तोड़ में लगे श्री लालू प्रसाद यादव के इशारे पर जो लोग राजग के कुछ विधायकों के राजद के सम्पर्क होने के फर्जी दावे कर रहे थे और मुख्यमंत्री तक को नये-नये ऑफर दे रहे थे, उन्हें चार सप्ताह तक बिहार की कानून-व्यवस्था से कोई शिकायत नहीं थी। जदयू की ओर से खरा जवाब मिलने के बाद श्री यादव को बिहार की विधि-व्यवस्था में फिर कमी नजर आने लगी है।

गौरतलब है कि राजद अध्यक्ष के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से बुधवार को ट्वीट कर कहा गया कि बिहार में अपराध की सुनामी आई हुई है। प्रतिदिन सैंकड़ों लोग मारे जा रहे है। मुख्यमंत्री कान में तेल डालकर संवेदनहीनता और स्वार्थ की गहरी नींद में सो रहे हैं। उनकी ओर से राज्य में अपराध के आंकड़े पेश करते हुए कहा गया, “बिहार के अनुकंपाई मुख्यमंत्री सह एडिटर इन चीफ़ अपनी लाख एडिटिंग के बावजूद अखबारों को रक्तरंजित होने से रोक नहीं पा रहे हैं।”

सूरज शिवा

जारी (वार्ता)

image