Monday, Jul 15 2019 | Time 23:29 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • सेल्फी लेने के चक्कर में छात्र की डूबकर मौत
  • सड़क दुर्घटना में युवती की मौत
  • कैनरा बैंक की शाखा से साढ़े तीन लाख की लूट, एक गिरफ्तार
  • पीएचईडी का जिला कॉर्डिनेटर रिश्वत लेते रंगेहाथ गिरफ्तार
  • नहीं रहे जाने-माने पत्रकार बादल सान्याल
  • सफेदपोश अपराधियों से सख्ती से निपटें : रघुवर
  • उत्तर कोरिया ने ताजिकिस्तान को हराया, भारत बाहर
  • उत्तर कोरिया ने ताजिकिस्तान को हराया, भारत बाहर
  • सड़कों की खुदाई एवं साफ सफाई को लेकर हाईकोर्ट सख्त
  • बिहार में बंद पड़ी 12 चीनी मिलों की जमीन बियाडा को शीघ्र : सुशील
  • लखनऊ में सड़को की खुदाई एवं साफ-सफाई को लेकर हाईकोर्ट सख्त
  • उप्र में लखनऊ ,मेरठ समेत कई स्थानों पर बारिश
  • बिहार में फिल्म ‘सुपर-30’ हुआ टैक्स फ्री
  • दौसा जिले में किसान फिर आंदोलन की राह पर
  • फीस वृद्धि के विरोध में छात्रों ने खट्टर की गाड़ी रोकने का प्रयास किया
राज्य


राफेल विमानों की खरीद सौदा शताब्दी का सबसे बड़ा घोटाला:आनंद शर्मा

राफेल विमानों की खरीद सौदा शताब्दी का सबसे बड़ा घोटाला:आनंद शर्मा

वाराणसी, 05 सितंबर(वार्ता) कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं राज्यसभा सांसद आनंद शर्मा ने केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए राफेल विमानों की खरीद सौदे को शताब्दी का सबसे बड़ा घोटाला करार देते हुए पूरे मामले की जांच संयुक्त संसदीय समिति (जेपीसी) से कराने की मांग दोहरायी है।

श्री शर्मा ने बुधवार को प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नेतृत्व वाली केंद्र सरकार पर देश की संवैधानिक संस्थाओं एवं कानून के दुरुपयोग करने का गंभीर आरोप लगाया है।

पूर्व केंद्रीय मंत्री श्री शर्मा ने यहां संवाददाताओं से कहा कि कांग्रेस नेतृत्व वाली केंद्र सरकार के दौरान फ्रांस से 526 करोड़ रुपये प्रति राफेल विमान खरीदने का सौदे हुआ था जिसे मोदी सरकार तीन गुणा अधिक कीमत 1670 करोड़ रुपये प्रति विमान खरीद रही है। कांग्रेस कार्य समिति के सदस्य श्री शर्मा ने कहा कि राफेल खरीद मामले में प्रधानमंत्री मोदी ने कानून को ताक पर रख कर फैसला लिया तथा भारत के रक्षा मंत्री तक को इसकी जानकारी नहीं दी गई।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस द्वारा पूरे मामले की जांच संयुक्त संसदीय कमेटी (जेपीसी) कमेटी से कराने की मांग लगातार की जा रह है लेकिन जनता की गाढ़ी कमाई में से अरबों रुपये के इस घोटाले की जांच के लिए सरकार तैयार नहीं हो रही है।

राज्यसभा में विपक्ष के नेता श्री शर्मा ने कहा कि नोटबंदी मामले में भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के हालिया घोषणा से साबित होता है कि श्री मोदी के मनमाने फैसले देश को भारी नुकसान हुआ। इससे अर्थ व्यवस्था पर विपरीत असर पड़ा। उन्होंने कहा कि नोटबंदी से गरीब एवं मध्यम वर्ग का सबसे अधिक नुकसान हुआ और करोड़ों लोगों की रोजी-रोटी चली गई। श्री शर्मा ने कहा कि वर्ष 2019 के लोक सभा चुनाव में जनता इसका जवाब देगी और भाजपा को सत्ता से बाहर का रास्ता दिखायेगी।

उन्होंने कहा कि मोदी सरकार को अनुसूचित जाति एवं जनजाति कानून में संशोधन के लिए सर्वसम्मति बनानी चाहिए।

बीरेंद्र मुसन्ना तेज

वार्ता

More News
ईडी शारदा चिट फंड घोटाले में छह लोगों को समन

ईडी शारदा चिट फंड घोटाले में छह लोगों को समन

15 Jul 2019 | 11:27 PM

कोलकाता 15 जुलाई (वार्ता) प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने शारदा चिट फंड घोटाला मामले में तृणमूल कांग्रेस सांसद शताब्दी रॉय और कुणाल घोष सहित छह व्यक्तियों को जांच अधिकारियों के समक्ष पेश होने का समन जारी किया है।

see more..
image