Monday, Jul 15 2019 | Time 23:51 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • असम में बाढ़ की स्थिति बदतर, प्रधानमंत्री ने लिया हालात का जायजा
  • सेल्फी लेने के चक्कर में छात्र की डूबकर मौत
  • सड़क दुर्घटना में युवती की मौत
  • कैनरा बैंक की शाखा से साढ़े तीन लाख की लूट, एक गिरफ्तार
  • पीएचईडी का जिला कॉर्डिनेटर रिश्वत लेते रंगेहाथ गिरफ्तार
  • नहीं रहे जाने-माने पत्रकार बादल सान्याल
  • सफेदपोश अपराधियों से सख्ती से निपटें : रघुवर
  • उत्तर कोरिया ने ताजिकिस्तान को हराया, भारत बाहर
  • उत्तर कोरिया ने ताजिकिस्तान को हराया, भारत बाहर
  • सड़कों की खुदाई एवं साफ सफाई को लेकर हाईकोर्ट सख्त
  • बिहार में बंद पड़ी 12 चीनी मिलों की जमीन बियाडा को शीघ्र : सुशील
  • लखनऊ में सड़को की खुदाई एवं साफ-सफाई को लेकर हाईकोर्ट सख्त
  • उप्र में लखनऊ ,मेरठ समेत कई स्थानों पर बारिश
  • बिहार में फिल्म ‘सुपर-30’ हुआ टैक्स फ्री
  • दौसा जिले में किसान फिर आंदोलन की राह पर
खेल


महिला और पुरूष बैडमिंटन टीमें पदक होड़ से बाहर

महिला और पुरूष बैडमिंटन टीमें पदक होड़ से बाहर

जकार्ता, 20 अगस्त (वार्ता) स्टार शटलर पीवी सिंधू का एकमात्र साहसी प्रदर्शन भारतीय महिला बैडमिंटन टीम की जीत के लिये नाकाफी साबित हुआ और उसे 18वें एशियाई खेलों में सोमवार को बैडमिंटन टीम स्पर्धा में शीर्ष वरीयता प्राप्त जापान के हाथों क्वार्टरफाइनल मैच में 1-3 से हार झेलनी पड़ी।

भारतीय महिला टीम इस हार के साथ ही पदक होड़ से बाहर हो गयी। महिला टीम की हार के बाद पुरूष टीम मेजबान इंडोनेशिया के हाथों क्वार्टरफाइनल में 1-3 से हारकर पदक होड़ से बाहर हो गयी। पुरूष टीम ने कल प्री क्वार्टरफाइनल में मालदीव को 3-0 से हराया था लेकिन इंडोनेशिया के आगे भारतीय पुरूष खिलाड़ी खासा निराश कर गये।

टीम मुकाबलों के बाद अब भारत की बैडमिंटन में पदक जीतने की उम्मीदें एकल मुकाबलों में पीवी सिंधू और सायना नेहवाल पर रह गयी हैं। भारत ने एशियाई खेलों के इतिहास में आठ कांस्य पदक जीते हैं और पिछले एशियाई खेलों में भारत को सिर्फ महिला टीम स्पर्धा में कांस्य पदक मिला था।

भारतीय महिला टीम ने चार साल पहले पिछले एशियाई खेलों में टीम स्पर्धा में जापान के साथ कांस्य पदक जीता था लेकिन इस बार उसकी चुनौती क्वार्टरफाइनल में ही टूट गयी। भारतीय टीम को सीधे क्वार्टरफाइनल में प्रवेश मिला था जहां वह जापान की शेष खिलाड़ियों से पार नहीं पा सकी।

बेस्ट ऑफ फाइव के इस टूर्नामेंट में ओलंपिक रजत पदक विजेता सिंधू ही भारत के लिये एकमात्र मैच जीत पायीं। सिंधू ने विश्व की दूसरे नंबर की खिलाड़ी अकाने यामागुची को लगातार गेमों में 21-18, 21-19 से पराजित कर भारत को बढ़त दिलाई।

लेकिन महिला युगल में एन सिक्की रेड्डी और अश्विनी पोनप्पा की जोड़ी को अलग करने का निर्णय गलत साबित हुआ। सिक्की और आरती सारा को एक टीम में उतारा गया जिन्हें यूकी फुकुशिमा और सयाका हिरोतो ने लगातार गेमों में 21-15, 21-6 से हरा दिया।

 

More News
इस बार प्रो कबड्डी का खिताब जीतेंगे: गुजरात फार्च्यून जायंट्स

इस बार प्रो कबड्डी का खिताब जीतेंगे: गुजरात फार्च्यून जायंट्स

15 Jul 2019 | 11:27 PM

अहमदाबाद, 15 जुलाई (वार्ता) प्रो कबड्डी लीग में अपने प्रवेश के बाद से दोनों सत्रों में फाइनल तक पहुंचने वाली युवा टीम गुजरात फार्च्यून जायंट्स ने सोमवार को कहा कि इस बार यानी लीग के सीजन 7 में यह बदली हुई रणनीति के जरिये खिताब पर जरूर कब्जा जमायेगी।

see more..
राष्ट्रमंडल टेबल टेनिस से हटा पाकिस्तान

राष्ट्रमंडल टेबल टेनिस से हटा पाकिस्तान

15 Jul 2019 | 11:27 PM

कटक, 15 (वार्ता) ओडिशा के कटक में होने वाली 21वीं राष्ट्रमंडल टेबल टेनिस चैंपियनशिप से ठीक पूर्व में पाकिस्तान इस टूर्नामेंट से हट गया है।

see more..
उत्तर कोरिया ने ताजिकिस्तान को हराया, भारत बाहर

उत्तर कोरिया ने ताजिकिस्तान को हराया, भारत बाहर

15 Jul 2019 | 11:27 PM

अहमदाबाद, 15 जुलाई (वार्ता) उत्तर कोरिया ने शीर्ष पर चल रही टीम ताजिकिस्तान को सोमवार को 1-0 से हरा दिया और उत्तर कोरिया की इस जीत के साथ मेजबान तथा गत चैंपियन भारत इंटरकांटिनेंटल कप फुटबॉल टूर्नामेंट से बाहर हो गया।

see more..
इंग्लैंड-न्यूजीलैंड बनने चाहिये थे संयुक्त विजेता, बाउंड्री नियम क्रूर

इंग्लैंड-न्यूजीलैंड बनने चाहिये थे संयुक्त विजेता, बाउंड्री नियम क्रूर

15 Jul 2019 | 11:27 PM

नयी दिल्ली, 15 जुलाई (वार्ता) विश्वकप फाइनल में सुपर ओवर भी टाई हो जाने के बाद सर्वाधिक बाउंड्री के आधार पर इंग्लैंड को विजेता घोषित करने पर पूर्व क्रिकेटरों ने आईसीसी के इस नियम को काफी क्रूर बताया और कई खिलाड़ियों ने कहा कि दोनों टीमों को संयुक्त रूप से विजेता घोषित किया जाना चाहिये था।

see more..
इंग्लैंड और न्यूजीलैंड बनने चाहिये थे संयुक्त विजेता

इंग्लैंड और न्यूजीलैंड बनने चाहिये थे संयुक्त विजेता

15 Jul 2019 | 11:27 PM

नयी दिल्ली, 15 जुलाई (वार्ता) विश्वकप फाइनल में सुपर ओवर भी टाई हो जाने के बाद सर्वाधिक बाउंड्री के आधार पर इंग्लैंड को विजेता घोषित करने पर पूर्व क्रिकेटरों ने आईसीसी के इस नियम को काफी क्रूर बताया आैर कई खिलाड़ियों ने कहा कि दोनों टीमों को संयुक्त रूप से विजेता घोषित किया जाना चाहिये था।

see more..
image