Wednesday, Jul 24 2019 | Time 06:51 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • पाकिस्तान के क्वेटा में विस्फोट, दो की मौत, 25 घायल
  • कनाडा में सड़क हादसे में 69 लोग घायल
  • नाइजीरिया में सेना ने 78 सशस्त्रधारियों को मार गिराया
  • छह यूरोपीय देशों ने की फिलिस्तीनियों के घरों को तोड़े जाने की निंदा
  • सड़क हादसे में चार तीर्थ यात्रियों की मौत, दो घायल
  • कर्नाटक में भाजपा की सत्ता में वापसी
  • कर्नाटक में लोकतंत्र की हार, लालच की जीत हुई: राहुल
world


संयुक्त राष्ट्र में पहली बार मनाई गई अंबेडकर जयंती

संयुक्त राष्ट्र में पहली बार मनाई गई अंबेडकर जयंती

न्यूयॉर्क, 14 अप्रैल (वार्ता) संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में भारत रत्न बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर की 125वीं जयंती मनाई गई और इस मौके पर विभिन्न क्षेत्रों में उनके योगदान और सेवाओं का उल्लेख किया गया। संयुक्त राष्ट्र संघ में भारत के स्थायी मिशन ने अमेरिका आधारित गैर सरकारी संस्था फाउंडेशन फोर ह्यूमन हाेराइजन और भारत आधारित गैर सरकारी संस्था कल्पना सरोज फाउंडेशन के सहयोग से डा. अंबेडकर की 125वीं जयंती का विशेष समारोह आयोजित किया। इस मौके पर संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि सैयद अकबरुद्दीन ने कहा, “डॉ. भीमराव अंबेडकर भारतीय संविधान के प्रमुख निर्माता तथा स्वतंत्र भारत के पहले कानून मंत्री, एक समाज सुधारक, कानूनविद, पर्यावरणविद, लेखक और एक शोधार्थी थे। वह बहुमुखी प्रतिभा के धनी थे और उन्हाेंने भारत में भेदभाव और सामाजिक असमानता के खिलाफ लड़ाई लड़ी।” संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम की प्रशासक हेलन क्लार्क ने कहा कि डॉ. अंबेडकर जानते थे कि असमानता लोगों के कल्याण की दिशा में बुनियादी चुनौती है। इस अवसर पर कई अन्य लोगों ने भी अंबेडकर की शिक्षाओं को याद किया। इस मौके पर राजनयिक, संयुक्त राष्ट्र के वरिष्ठ अधिकारी, भारत से राज्य सरकार के अधिकारी, छात्र, सिविल सोसायटी तथा निजी क्षेत्र के प्रतिनिधि मौजूद थे। संयुक्त राष्ट्र संघ में पहली बार बाबा साहेब पर विशेष कार्यक्रम का आयोजन किया गया। मनीषा, यामिनी वार्ता

image