Wednesday, Aug 5 2020 | Time 01:48 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • लेबनान की राजधानी बेरूत में भीषण विस्फोट, 30 लोगों की मौत
  • दुष्कर्म पीड़िता की मददगार को तत्काल रिहा करने का आदेश
  • लेबनान की राजधानी बेरूत में भीषण विस्फोट, कई लोगों की मौत
  • सुशांत की मौत की सीबीआई जांच को लेकर दो और याचिकाएं
  • कश्मीर में आतंकवादी हमलों में भाजपा का एक पंच और दो पुलिसकर्मी घायल
राज्य » उत्तर प्रदेश


डिफेंस कारिडोर के निर्माण का आधार बनेगा एक्सपो 2020 : राजनाथ

डिफेंस कारिडोर के निर्माण का आधार बनेगा एक्सपो 2020 : राजनाथ

लखनऊ 08 फरवरी (वार्ता) उत्तर प्रदेश को असीमित संभावनाओं वाला प्रदेश बताते हुये रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने शनिवार को कहा कि राजधानी लखनऊ में आयोजित डिफेंस एकस्पो ने राज्य को रक्षा क्षेत्र में नयी पहचान दिलायी और यह डिफेंस कॉरिडोर के निर्माण का मजबूत आधार साबित होगा।

       श्री सिंह ने वृंदावन सेक्टर 15 स्थित आयोजन स्थल पर एक्सपो के चौथे दिन समापन समारोह को संबोधित करते हुये कहा कि डिफेंस एक्सपो 2020 में न केवल बड़ी संख्या में प्रदर्शकों ने हिस्सा लिया बल्कि नई साझेदारियां हुई और 12 लाख से ज्यादा दर्शक इसमें शामिल हुए।

      उन्होने कहा कि उत्तर प्रदेश असीमित संभावनाओं का प्रदेश है और एक्सपो ने राज्य को रक्षा क्षेत्र में नई पहचान दिलाने का कार्य किया है। उन्होंने कहा कि 23 समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर से राज्य के डिफेंस कॉरिडोर को नए निवेश हासिल करने में बड़ा प्रोत्साहन हासिल हुआ है।

      रक्षा मंत्री ने कहा कि डिफेंस एक्सपो भारत को विश्व पटल पर रक्षा उत्पादन हब और निर्यातक के तौर पर स्थापित करेगा। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का डिफेंस एक्सपो के उद्घाटन करने और विश्व मंच पर भारत की बेहतर छवि का निर्माण करने वाली नीतियों को अपनाने के लिए धन्यवाद दिया।


श्री सिंह ने कहा कि इस एक्सपो में आयोजित हुए भारत- अफ्रीकी रक्षा मंत्रियों के पहले सम्मेलन में अपनायी गई लखनऊ घोषणा एक अन्य अभूतपूर्व उपलब्धि रही। उन्होने रक्षा प्रदर्शनी को भव्य एवं सफल समारोह बनाने के लिए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अगुआई में प्रदेश सरकार और सभी हितधारकों का धन्यवाद किया।

         इस मौके पर श्री योगी ने कहा कि उनकी सरकार ने पिछले कुछ वर्षों में प्रयागराज कुंभ मेला, उत्तर प्रदेश निवेशक शिखर सम्मेलन, प्रवासी भारतीय दिवस और डिफेंसएकस्पो का सफल आयोजन कर प्रदेश की छवि और प्रतिष्ठा की नई ऊंचाइंया देने का कार्य किया है। उन्होंने डिफेंस एक्सपो 2020 को रक्षा महाकुंभ की संज्ञा देते हुए कहा कि इस रक्षा प्रदर्शनी में तीन हजार से ज्यादा विदेशी प्रतिनिधियों,10 हजार से ज्यादा भारतीय प्रतिनिधिमंडल और 12 लाख दर्शकों ने हिस्सा लिया और इसने उत्तरप्रदेश डिफेंस कॉरिडोर के विकास की मजबूत बुनियाद रखने का कार्य किया।

        रक्षा सचिव डॉ. अजय कुमार ने कहा कि इस रक्षा प्रदर्शनी में आयोजित सभी समारोह बेहतर तरीके से संचालित एवं संपन्न हुए। प्रदर्शनी ने उत्तरप्रदेश डिफेंस कॉरिडोर में निवेशकों की रूचि को जागृत  करने का कार्य किया। एक्सपो को आज जनता के लिए खोले जाने के बाद भारी संख्या में दर्शक जिसमें बच्चे, वृद्ध, युवक, युवतियाँ और स्कूली छात्र, छात्राएं इस विशाल प्रदर्शनी को देखने के लिए आए एवं रक्षा उपकरणों तथा सशस्त्र सेनाओं के हैरतअंगेज कारनामों से रोमांचित हुए।      

      उन्होने कहा कि डिफेंस एकस्पो अगले पाँच वर्षों में प्राप्त होने वाले रक्षा निर्यातों के लिए प्रधानमंत्री द्वारा लक्षित 5 बिलियन अमेरीकी डॉलर के विकास का गवाह बना जो बदले में भारत को 5 ट्रिलियन अमेरीकी डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने के उद्धेश्य को प्राप्त करने में मदद करेगा। यह भारतीय रक्षा उद्योगों को अति आवश्यक हथियार प्रदान करने वाले एक सफल नवोन्मेषक के रूप में, सबसे ज्यादा हथियार आयात करने वाले भारत के टैग को हटाने में मदद करेगा। 

 प्रधानमंत्री ने रक्षा उत्पादन के क्षेत्र में अगले पाँच वर्षों में 15,000 से अधिक सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम (एमएसएमई) की संख्या को लाने के लिए भी मार्ग तैयार किया। एक्सपो में 07 फरवरी को आयोजित बंधन समारोह में 13 से ज्यादा उत्पादों को लॉन्च किया गया तथा यह सार्वजनिक उपक्रमों , निजी और वैश्विक रक्षा निर्माण कंपनियों के बीच 124 से ज्यादा समझौता ज्ञापनों (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए जाने और भारत में आयोजित सबसे सफल एवं शानदार आयोजन होने का गवाह बना।

       रक्षा क्षेत्र के विभिन्न सार्वजनिक उपक्रमों , भारतीय निजी रक्षा कंपनियों तथा विदेशी कंपनियों के प्रतिनिधियों के द्वारा नवोन्मेष सहभागिता लक्ष्य वाले अनुबंधों पर नए सिरे से साझेदीरी करने और देश में रक्षा निर्माण के परिवर्तन के उद्देश्य से हस्ताक्षर किए गए। हस्ताक्षर किए गए समझौतों में से 23 उत्तर प्रदेश सरकार के थे। इन समझौता ज्ञापनों से राज्य में स्थापित किए जा रहे डिफेंस कॉरिडोर में 50,000 करोड़ रुपए के निवेश और 03 लाख रोजगार के अवसरों की संभावना हैं।

        भारतीय सशस्त्र बलों के द्वारा लखनऊ के दो स्थानों पर सजीव प्रदर्शन किए गए। डिफेंसएक्सपो स्थल पर दर्शकों को रोमांचित करते हुए भारतीय थलसेना और भारतीय वायु सेना ने सजीव प्रदर्शन किए और भारतीय नौसेना तथा भारतीय तटरक्षक बल ने गोमती नदी पर सजीव प्रदर्शन किए। भारतीय सेना के डेयरडेविल्स द्वारा अपनी बाईक पर प्रदर्शन करना, सूर्यकिरण जेट विमानों द्वारा उड़ान भरना, कमांड़ो प्रदर्शन तथा स्काई राइडिंग इत्यादि प्रदर्शनों ने दर्शकों का ध्यान अपनी ओर आकर्षित किया।

प्रदीप

वार्ता
More News
मोदी के साफ रास्ता देने के लिये बंदरों को खिलाया जायेगा फल चना

मोदी के साफ रास्ता देने के लिये बंदरों को खिलाया जायेगा फल चना

05 Aug 2020 | 12:03 AM

अयोध्या 04 अगस्त (वार्ता) उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को भूमि पूजन कार्यक्रम की समीक्षा की और अधिकारियों को कोविड-19 प्रोटोकाल का अक्षरश: पालन कराये जाने के निर्देश दिये।

see more..
भूमि पूजन की पूर्व संध्या पर रोशनी से नहायी अयोध्या

भूमि पूजन की पूर्व संध्या पर रोशनी से नहायी अयोध्या

04 Aug 2020 | 11:05 PM

अयोध्या, 04 अगस्त (वार्ता) आस्था के समंदर में गोते लगाती राम की नगरी अयोध्या भूमि पूजन की पूर्व संध्या पर मंगलवार शाम दीपों की रोशनी से जगमगा उठी।

see more..
image