Thursday, Apr 25 2019 | Time 12:14 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • एसीबी ने इंदिरा नहर में प्रयुक्त निर्माण सामग्री के नमूने लिये
  • दिल्ली में उमस से लोग हुुए परेशान
  • इरफान की बहुत बड़ी फैन है करीना
  • इरफान की बहुत बड़ी फैन है करीना
  • इरफान की बहुत बड़ी फैन है करीना
  • कंगना को रोल मॉडल मानती है तारा सुतारिया
  • कंगना को रोल मॉडल मानती है तारा सुतारिया
  • अनंतनाग में हिजबुल के दो अातंकवादी मारे गये
  • राजनीतिक दलों को जिताने में महती भूमिका निभाते हैं चुनावी नारे
  • चीन में लिफ्ट गिरने 11 श्रमिकों की मौत, दो घायल
  • ‘रोड शो’ के जरिये मोदी दिखायेंगे भाजपा की ‘ताकत’
  • पाकिस्तान शांति पसंद देश,भारत चरमपंथ को बढ़ावा दे रहा: अल्वी
  • अक्षय के साथ कंचना के रीमेक में काम करेंगे अमिताभ
  • शंकर और जयकिशन के बीच भी हुयी थी अनबन
  • दक्षिण भारतीय फिल्म में खलनायक का किरदार निभायेंगे शाहरूख खान!
बिजनेस


निसान की भारतीय बाजार के लिए रणनीति

नयी दिल्ली 06 सितंबर (वार्ता) वाहन निर्माता कंपनी निसान मोटर कंपनी ने भारतीय बाजार में अपनी मौजूदगी को सशक्त बनाने के लिए नये उत्पाद और शोध एवं विकास केन्द्र को मजबूत बनाने के साथ ही अलगे वर्ष नया स्पोर्ट यूटिलिटी वाहन (एसयूवी) किक्स लॉच करने की घोषणा की है।
कंपनी के वरिष्ठ उपाध्यक्ष एवं अफ्रीका, पश्चिम एशिया और भारत के अध्यक्ष पेयमैन कारगर ने सियाम की 58वीं वार्षिक बैठक के इतर कहा कि निसान भारत के प्रति कटिबद्ध है और यहां अपनी उपस्थिति को मजबूत बनाने की दिशा में काम कर रही है। कंपनी की रणनीति निसान और डैटसन दोनों ब्रांड को सशक्त बनाने की है। इसी के तहत निसान के वैश्विक स्तर के उत्पाद एसयूवी किक्स को भारतीय बाजार में लॉच करने की तैयारी चल रही है जबकि डैटसन के लिए वैल्यू, कनेक्टिविटी और जापानी इंजीनियरिंग की पेशकश की जायेगी।
उन्होंने कहा कि भारतीय बाजार में दुनिया की प्रमुख इलेक्ट्रिफिकेशन और कनेक्टेड कारों को लाने की तैयारी है। उन्होंने अगले तीन वर्षाें में देश में निसान के डीलरों की संख्या को दो गुनी करने की घोषणा की जिसकी संख्या अभी 270 है। इसके साथ ही चेन्नई में निसान डिजाइन सेंटर बनाया जायेगा।
उनहोंने कहा कि निसान के केरल स्थित पहले वैश्विक डिजिटल हब के लिए वित्त वर्ष 2018 में 500 लोगों की भर्ती की गयी है। यह हब मोबिलिटी के क्षेत्र में इनोवेशन पर ध्यान केन्द्रित करेगा ताकि भारत सहित पूरी दुनिया के निसान के नये उत्पाद आ सके।
उन्होंने कहा कि निसान मोटर और रैनो दोनों मिलकर वर्ष 2010 से अब तक भारत में 6100 करोड़ रुपये का निवेश कर चुके हैं और आगे भी इंजीनियरिंग, शोधन एवं विकास और विनिर्माण को आगे बढ़ाते रहेंगे। चेन्नई स्थित रैनो निसान टेक्नालॉजी बिजनेस सेंटर देश का सबसे बड़ा ऑटोमोटिवि शोध एवं विकास नियोक्ता है और इसमें एक हजार इंजीनियरों की भर्ती की जायेगी। इसका चेन्नई स्थित संयुक्त विनिर्माण संयंत्र वैश्विक विनिर्माण हब है जहां से 106 देशों में कारें निर्यात की जा रही है।
शेखर
वार्ता
image