Tuesday, Aug 4 2020 | Time 22:08 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • कोरोना महामारी : श्राद्ध भोज में नाच का आयोजन, तीन गिरफ्तार
  • श्री रामजन्मभूमि मंदिर देश में रामराज्य की बुनियाद रखेगा : आडवाणी
  • छत्तीसगढ़ में मिले 289 नए संक्रमित मरीज,आठ की मौत
  • पुरी बीच पर सुदर्शन ने उकेरी राममंदिर की कलाकृति
  • कोरोना मामले 19 लाख के पार, रिकवरी दर 67 फीसदी के पार
  • बिना राम के भारत को पहचाना नहीं जा सकता - शिवराज
  • मुरादाबाद में 98 और नये कोरोना पॉजिटिव मिले,संख्या हुई 2196
  • खगड़िया में गंगा नदी में नौका पलटी, 30 लापता
  • बाराबंकी में 54 नये कोरोना पॉजिटिव मिले,संख्या 1407 पहुंची
  • आगरा पुलिस ने तीन साईबर अपराधियों समेत दस बदमाशों को किया गिरफ्तार
  • नायडू , मोदी समेत अनेक हस्तियों ने अल्काजी के निधन पर शोक जताया
  • निशंक ने राष्ट्रपति को नयी शिक्षा नीति का दस्तावेज पेश किया
  • देश में कोरोना मामले 19 लाख के पार, पौने 13 लाख से अधिक हुए स्वस्थ
  • जौनपुर नहीं थम रहा कोरोना संक्रमण,120 नये मामले,संख्या हुई 2405
  • मुंबई में फिर से 709 नये मामले, पुणे बना नया हॉटस्पॉट
राज्य » गुजरात / महाराष्ट्र


शिव सेना को किस आधार पर राजग से बाहर निकाला गया: सामना

शिव सेना को किस आधार पर राजग से बाहर निकाला गया: सामना

मुंबई, 19 नवंबर (वार्ता) शिव सेना ने राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) से हटाये जाने के संबंध में कहा है कि राजग से शिवसेना को हटाने के लिए उचित प्रक्रियाओं का पालन किया गया या नहीं, क्या इस तरह का कदम उठाने से पहले कोई कारण बताओ नोटिस जारी किया गया।

शिव सेना ने पार्टी के मुखपत्र सामना के आज के संपादकीय में लिखा है कि केन्द्रीय मंत्री प्रह्लाद जोशी ने शिव सेना को राजग से बाहर निकालने की घोषणा करते हुए कहा कि शिव सेना का संबंध कांग्रेस के साथ है, इसलिए शिव सेना को राजग से निकाला जाता है और शिव सेना सांसदों को संसद में विपक्षी खेमे में बैठाया गया।

सामना में आगे लिखा है कि जिस राजग से शिव सेना को निकाला गया है उस राजग की स्थापना में दिवंगत बाल ठाकरे, पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी, भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी आदि का विशेष योगदान है। शिव सेना को राजग से निकालने के पहले क्या राजग में शामिल दलों की बैठक बुलायी गयी, क्या इस पर चर्चा हुयी या फिर मनमाने ढंग से घोषणा कर दी गयी। जिसने भी शिव सेना को राजग से बाहर निकालने की घोषणा की उसे शिव सेना का मर्म और राजग का कर्म-धर्म का पता नहीं है।

राजग की जब नींव रखी गयी तब आज के कई नेताओं का जन्म भी नहीं हुआ रहा होगा। शिव सेना को निकालने का किस आधार पर निर्णय लिया गया, जो कुछ भी किया गया, वह उचित नहीं है।

त्रिपाठी.श्रवण

वार्ता

image