Tuesday, Jan 19 2021 | Time 23:55 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • चुनाव आयोग पश्चिम बंगाल दौरा बुधवार से
  • देश में 1 06 करोड़ के करीब पहुंची कोरोना संक्रमितों की संख्या
  • रिजिजू को आयुष मंत्रालय का अतिरिक्त प्रभार
  • रुपेश सिंह हत्याकांड के दोषियों को अविलंब करें गिरफ्तार : नीतीश
  • नीतीश ने गुरू गोविंद सिंह की जयंती पर दी शुभकामनायें
  • ब्रिस्बेन मैच के हीरो ऋषभ उत्तराखंड के कोहिनूर : प्रेमचंद
  • रिजुजु को आयुष मंत्रालय का अतिरिक्त प्रभार
  • तमिलनाडु में कोरोना सक्रिय मामले 5400 के करीब
  • कप्तान कोल ने ओडिशा को एक और हार से बचाया
  • कप्तान कोल ने ओडिशा को एक और हार से बचाया
  • चिर-प्रतिद्वंद्वी केरला और बेंगलुरु अपनी किस्मत बदलने उतरेंगे
  • चिर-प्रतिद्वंद्वी केरला और बेंगलुरु अपनी किस्मत बदलने उतरेंगे
  • कर्नाटक में कोरोना के सक्रिय मामलों में फिर से गिरावट
  • विराट, इशांत, हार्दिक की टेस्ट टीम में वापसी, नटराजन और शॉ बाहर
  • विराट, इशांत, हार्दिक की टेस्ट टीम में वापसी, नटराजन और शॉ बाहर
राज्य » अन्य राज्य


प्रियंका बनीं न्यूजीलैंड में मंत्री बनने वाली पहली भारतीय

कोच्चि 02 नवंबर (वार्ता) केरल में एर्नाकुलम जिले के परावूर निवासी प्रियंका राधाकृष्णन न्यूजीलैंड में जेसिंडा अर्डन की मंत्रिमंडल में शामिल हुई हैं और इसके साथ ही वह न्यूजीलैंड में मंत्री बनने वाली पहली भारतीय बन गई हैं।
इकतालीस वर्षीय प्रियंका पी.एम. रमन राधाकृष्णन तथा उषा की पुत्री हैं और उनका जन्म 1979 चेन्नई में हुआ था, जहां पर उनके ज्यादातर रिश्तेदार रहते हैं।
न्यूजीलैंड जाने से पहले प्रियंका सिंगापुर में पली-बढ़ीं। उन्होंने न्यूजीलैंड की राजधानी विलिंगटन स्थित विक्टोरिया विश्वविद्यालय के पढ़ाई हासिल की। उन्होंने यहां से विकास अध्ययन में स्नातक तथा स्नातकोतर की उपाधि हासिल की। स्नातक की उपाधि हासिल करने के बाद उन्होंने ऑकलैंड में भारतीय समुदाय के बीच समाज सेविका के तौर पर काम किया। प्रियंका के दादा भारत में वामपंथ के प्रगतिशील राजनीति में बहुत सक्रिय रहे थे और उन्होंने केरल राज्य के गठन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।
प्रियंका 2006 में न्यूजीलैंड लेबर पार्टी में शामिल हुईं और पार्टी की आंतरिक नीति को तैयार करने के लिए काम किया है। उन्होंने पार्टी स्थानीय और राष्ट्रीय दोनों स्तरों पर काम किया है। उन्हें 2019 में जातीय मामलों के संसदीय निजी सचिव के तौर पर नियुक्त किया गया था।
दूसरी बार सांसद बनीं प्रियंका को सामुदायिक एवं स्वैच्छिक क्षेत्र, विविधता, समावेश एवं जातीय समुदाय, युवा और सामाजिक विकास एवं रोजगार मंत्री बनाया गया है।
संतोष
वार्ता
image