Friday, Jun 21 2024 | Time 13:11 Hrs(IST)
image
राज्य » पंजाब / हरियाणा / हिमाचल


महाराजा रणजीत सिंह द्वारा बनवाए गए स्मारकों के साथ किया जा रहा भेदभाव:डॉ सुरिंदर

अमृतसर, 20 मार्च (वार्ता) पंजाब भारतीय जनता पार्टी की संयुक्त मीडिया इंचार्ज और पंजाबी हेरिटेज फाउंडेशन की अध्यक्ष डॉ सुरिंदर कौर कंवल ने सोमवार को कहा कि अमृतसर को हेरिटेज सिटी का दर्जा दिलाने में अहम भूमिका निभाने वाले महाराजा रणजीत सिंह के बनवाए गए स्मारकों के साथ लंबे समय से भेदभाव किया जा रहा है जिससे न केवल अमृतसर स्थित धरोहरों और ऐतिहासिक स्मारकों के इतिहास को तोड़ा-मरोड़ा जा रहा है, बल्कि स्मारकों के निर्माण के प्रति भी उदासीनता दिखाई जा रही है।
उन्होंने पंजाब पर्यटन विभाग को पत्र लिखकर कहा कि अगर सरकार अमृतसर को हेरिटेज सिटी का दर्जा देना चाहती है तो सबसे पहले शहर के विरासती स्मारकों का ध्यान रखा जाए, उन्हें कब्जे से मुक्त कराया जाए। साथ ही शहर के धरोहर स्मारकों के जीर्णोद्धार पर करोड़ों रुपये खर्च करने वाली कंपनियों से भी जवाब मांगा जाए कि पिछले 20 वर्षों से चल रहे शहर के धरोहर स्मारकों के जीर्णोद्धार का कार्य कब पूरा किया जाएगा।
डॉ कंवल ने अमृतसर के इतिहास और स्मारकों के संबंध में प्रकाशित पुस्तक 'तवारीख लाहौर-अमृतसर' का उल्लेख करते हुए कहा कि उपरोक्त पुस्तक के अनुसार वर्तमान में अमृतसर में 200 से अधिक विरासत और ऐतिहासिक स्मारक हैं, जिनमें मुगल भवन भी शामिल हैं, सूफी संतों के तकिए, मंदिर, ठाकरद्वार, उद्यान, अखाड़े, मस्जिद, मठ, राजपुताना छतरियां, तालाब, बगीचे, बाजार, सिख साम्राज्य के दौरान साधु संतों के निवास के लिए बनाई गई कई ऐतिहासिक हवेलियां और अन्य स्मारक हैं। उन्होंने कहा कि विरासत स्मारकों के रखरखाव और संवर्धन के लिए सरकार द्वारा स्थापित विभागों को इन स्मारकों को प्राथमिकता के आधार पर अतिक्रमण मुक्त करना चाहिए।
ठाकुर.श्रवण
वार्ता
More News
बल्क ड्रग पार्क प्रदेश के लिए एक क्रांतिकारी शुरुआतः सुक्खू

बल्क ड्रग पार्क प्रदेश के लिए एक क्रांतिकारी शुरुआतः सुक्खू

20 Jun 2024 | 11:32 PM

शिमला, 20 जून (वार्ता) मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू ने गुरुवार को जिला ऊना के हरोली पंजुवाना में बल्क ड्रग पार्क के निर्माण कार्य का शुभारंभ करते हुए कहा कि यह परियोजना प्रदेश के इतिहास में एक क्रांतिकारी शुरुआत है, जिससे क्षेत्र की तस्वीर बदलेगी तथा स्थानीय लोगों को रोजगार एवं स्वरोजगार के अवसर प्राप्त होने से आय में भी बढ़ोतरी होगी।

see more..
image