Friday, Nov 15 2019 | Time 17:58 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • प्रदूषण : राज्यसभा सदस्यों के आवागमन के लिए इलेक्ट्रिक वाहन
  • पूर्वोत्तर के कृषि उत्पादों को वैश्विक बाजार में प्रोत्साहन
  • जालंधर में झगड़े के पांच आरोपी गिरफ्तार
  • राष्ट्रीय प्रैस दिवस पर खट्टर की मीडियाकर्मियों को बधाई
  • अंतरराष्ट्रीय नगर कीर्तन के चढ़ावे से श्री गुरु नानक देव के नाम पर स्कूल खोला जाए:उप समिति
  • पाकुड में वाहनों से पांच लाख से अधिक नकद जब्त
  • पत्रकारों पर बढ़ते हमले अभिव्यक्ति की आजादी पर खतरा
  • शेयर बाजार में तेजी जारी
  • अमृतसर में उद्योग 4 0 / स्मार्ट विनिर्माण जागरुकता सेमिनार आयोजित
  • आयुष्मान योजना को समाहित कर छत्तीसगढ़ सरकार शुरू करेंगी नई स्वास्थ्य योजना
  • भारत-बंगलादेश टेस्ट के दूसरे दिन का स्कोर
  • रामनगर सड़क हादसे में तीन मरे, अन्य तीन घायल
  • भाजपा सरकार के रहते किसानों का भला होने वाला नहीं :अखिलेश
  • दरभंगा के किसानों को कृषि फीडर से मिलेगी निर्बाध बिजली
  • गलत जगह पार्क वाहन की फोटो निकालिये, व्हाट्सएप कीजिये, चालान कटेगा
राज्य » उत्तर प्रदेश


रोहिँग्या और बांग्लादेशियों पर होगी कार्रवाई

लखनऊ 01 अक्तूबर(वार्ता) उत्तर प्रदेश सरकार राज्य में अवैध रूप से रहने वाले बांग्लादेशियों और राेहिग्यों के खिलाफ व्यापक अभियान चला कर उन्हें राज्य से बाहर करेगी ।
इसके लिये मंगलवार को सभी जिलों के पुलिस कप्तानों, आईजी, डीआईजी रेंज व एडीजी जोन को पत्र भेजकर इस पर निर्देश जारी कर दिये गये हैं । पुलिस महानिदेशक ओपी सिंह ने मंगलवार को यहां कहा कि अभियान अवैध रूप से उत्तर प्रदेश में रहने वाले बांग्लादेशी और रोहिंग्या के खिलाफ है । उन्होंने इस बात से इन्कार किया कि ये एनसीआर है ।
इसके लिये राज्य पुलिस मुख्यालय ने जो मसौदा तैयार किया है उसमें सभी जिलों के बाहरी छोर पर स्थित रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड, रोड के किनारे व उसके आसपास नई बस्तियों की पहचान की जाएगी जहां बांग्लादेशी व अन्य विदेशी नागरिक अवैध रूप से शरण लेते हैं।
सतर्कता के साथ सत्यापन के इस कार्य की वीडियो रिकॉर्डिंग कराई जाएगी। जांच में अगर संबंधित व्यक्ति अपना पता अन्य राज्यों, जिलों में बताता है तो समयबद्घ तरीके से उसका सत्यापन कराया जायेगा । पुलिस यह भी पता लगाएगी कि विदेशी नागरिकों ने अपने प्रवास को नियमित करने के लिए कौन-कौन से फर्जी अभिलेख व सुविधाएं ली हैं। इसमें राशन कार्ड, वोटर कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, शस्त्र लाइसेंस, पासपोर्ट व आधार कार्ड हो सकते हैं। इन फर्जी अभिलेखों व सुविधाओं के बारे में जांच पूरी होने पर उनके निरस्तीकरण की कार्रवाई होगी और यह सुविधाएं मुहैया कराने वाले बिचौलियों व विभागीय कर्मचारियों पर कार्रवाई होगी।
सूत्रों ने बताया कि अवैध रूप से रहने वाले लोगों की ऊंगलियों के निशान लिये जायेंगे और उन्हें फिंगर प्रिंट ब्यूरो को सत्यापन के लिये भेजा जायेगा ।सूत्रों का कहना है कि ऐसे सभी लोगों को बाहर निकाला जायेगा जो अवैध रूप से राज्य में रह रहे हैं । सूची में ऐसे भी नाम हो सकते हैं जो किसी जिले के फरार अपराधी हैं ।
विनोद
वार्ता
More News
काम पर भरोसा, शिलान्यास पर नहीं :योगी

काम पर भरोसा, शिलान्यास पर नहीं :योगी

15 Nov 2019 | 5:36 PM

कानपुर, 15 नवम्बर (वार्ता) समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव का नाम लिये बगैर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पहले की सरकारों को शिलान्यास करके भूलने की आदत थी जबकि उनकी सरकार परियोजनाओ पर अमली जामा पहनाने पर भरोसा करती है।

see more..
मोदी की महत्वाकांक्षी परियोजना है डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर: अंगड़ी

मोदी की महत्वाकांक्षी परियोजना है डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर: अंगड़ी

15 Nov 2019 | 5:19 PM

टूंडला 15 नवम्बर (वार्ता) रेल राज्य मंत्री सुरेश सी. अंगड़ी ने कहा है कि डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की महत्वाकांक्षी परियोजना है और इसके जरिए देश की अर्थव्यवस्था को मजबूती मिलेगी।

see more..
image