Tuesday, Jun 18 2024 | Time 21:29 Hrs(IST)
image
राज्य » उत्तर प्रदेश


बच्चों को सिखाने के लिए बेहतर परिवेश का निर्माण जरूरी: दीपक कुमार

लखनऊ 19 मई (वार्ता) उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव माध्यमिक एवं बेसिक शिक्षा दीपक कुमार ने कहा कि शिक्षा सर्वाेत्तम निवेश होता है इसलिए हमें बच्चों को सिखाने के लिए बेहतर परिवेश का निर्माण करना होगा।
माध्यमिक शिक्षा विभाग द्वारा लखनऊ में माध्यमिक स्तर पर गणित, अंग्रेजी तथा विज्ञान विषयों के शिक्षण को बेहतर बनाने के लिए शिक्षकों के समूह राज्य रिसोर्स ग्रुप (एसआरजी) की वर्कशॉप का आयोजन किया जा रहा है। इस दो दिवसीय कार्यशाला के दूसरे दिन अपर मुख्य सचिव माध्यमिक तथा बेसिक शिक्षा दीपक कुमार, विशेष सचिव माध्यमिक शिक्षा जीएस नवीन, महानिदेशक स्कूल शिक्षा विजय किरण आनंद तथा देशभर से आए विशेषज्ञों द्वारा शिक्षकों को बेहतर शिक्षण संबंधी अनेक टिप्स दिए गए।
राज्य शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद की ओर से लखनऊ के इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में आयोजित की जा रही कार्यशाला में दीपक कुमार ने प्रतिभागी शिक्षकों से अपेक्षा की कि वे दूर-दराज के क्षेत्रों में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा को पहुंचाने का नेतृत्व करें।
उन्होंने कहा कि शिक्षा सर्वाेत्तम निवेश होता है इसलिए हमें बच्चों को सिखाने के लिए बेहतर परिवेश का निर्माण करना होगा। बेहतर शिक्षण परिवेश निर्माण के लिए चलाए जा रहे ऑपरेशन कायाकल्प एवं ऑपरेशन अलंकार के माध्यम से आधारभूत ढांचे का निर्माण, कुशल शिक्षण तथा टेक्नोलॉजी की उपलब्धता को प्रदेश भर के विद्यालयों में सुनिश्चित किया जा रहा है। वंचित वर्ग के बच्चों को इसका भरपूर लाभ मिल सके इसके लिए एसआरजी समूह के सदस्य उत्तरदायी बनें।
अपर मुख्य सचिव ने कहा कि बच्चों को अपने विषय के प्रति रुचि जगाना शिक्षक का मुख्य कर्तव्य है। शिक्षकों को चाहिए कि वह लर्निंग आउटकम का उपयोग बच्चों की समस्याओं के समाधान तथा उनके बेहतर भविष्य निर्माण के लिए करें। एससीईआरटी एवं उसकी इकाइयों द्वारा माध्यमिक शिक्षकों हेतु शिक्षक संदर्शिका एवं सत्र योजना तैयार कराई जा रही है, जो शीघ्र ही उन्हें प्राप्त करा दी जाएगी।
उन्होंने शिक्षकों को इस बात के लिए भी आश्वस्त किया कि कार्यशाला के दौरान उनके द्वारा दिए जाने वाले महत्वपूर्ण तथा उपयोगी सुझावों पर शासन द्वारा शीघ्र सकारात्मक निर्णय लिए जाएंगे। क्योंकि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली सरकार शिक्षा के क्षेत्र में कायाकल्प के लिए प्रतिबद्ध है। प्रदेश सरकार शिक्षा के क्षेत्र में असर तथा नीति आयोग की रिपोर्ट में प्रदेश को उत्कृष्ट बनाना चाहती है।
सत्र को संबोधित करते हुए महानिदेशक स्कूल शिक्षा विजय किरण आनंद ने कहा कि शिक्षक कार्यशाला से स्वयं तो लाभान्वित हों साथ ही अपने जिलों में लौट कर अपने साथी शिक्षकों को भी उचित अनुसमर्थन प्रदान करें जिससे माध्यमिक शिक्षा की गुणवत्ता में उत्तरोत्तर वृद्धि हो। स्कूली शिक्षा को बेहतर बनाने के लिए क्लासरूम गतिविधियों को रोचक और शैक्षिक क्रियाकलापों को मनमोहक बनाना होगा। जिससे स्कूली शिक्षा के प्रति बच्चों की रुचि तथा उत्साह और अधिक बढ़े।
प्रदीप
वार्ता
image