Thursday, Jun 20 2024 | Time 15:34 Hrs(IST)
image
राज्य » उत्तर प्रदेश


कटान से बचाने के लिए ग्रामीणों ने जलशक्ति मंत्री को को सौंपी ‘गांव की माटी’

गाजीपुर, 20 मई (वार्ता) उत्तर प्रदेश के गाजीपुर जिले में गंगा नदी की कटान की विभीषिका झेल रहे गांव शेरपुर का निरीक्षण करने जल शक्ति मंत्री, बाढ़ मंत्री स्वतन्त्रदेव सिंह काे ग्रामीणों ने गांव की माटी साैंपी और नम आंखों से गांव को बचाने की अपील की। इस मौके पर भावुक स्वतंत्रदेव ने कहा कि गांव के अस्तित्व को आंच नहीं आने दी जाएगी।
गौरतलब है कि आजादी के लडाई में मुहम्मदाबाद तहसील में तिरंगा झंडा फहराने के दौरान शेरपुर गांव के एक साथ आठ लोगों के शहीद हुये थे जिसके बाद गांव को अष्टशहीदो का गांव कहा जाने लगा। शेरपुर गांव पिछले एक दशक से बरसात के सीजन में गंगा नदी द्वारा व्यापक रूप से भूमि कटान होती रहती है। कटान का आलम यह है कि शेरपुर सैकड़ों एकड़ जमीन गंगा में समाहित हो चुके हैं। वही प्रशासनिक आंकड़ों में भी दर्जनों मकान कुछ मजरे व सेमरा गांव की ग्रामीण बस्तियां भी बाढ़ में समा गई। ऐसे में शेरपुर गांव का हाल-चाल लेने खुद उत्तर प्रदेश सरकार के सिंचाई व बाढ़ मंत्री स्वतंत्र देव सिंह शनिवार को शेरपुर गांव पहुंचे। उन्होंने नौका में सवार होकर कटान का जायजा लिया। वहीं ग्रामीणों से बातचीत भी किया।
इस दौरान ग्रामीणों द्वारा युवा सामाजिक कार्यकर्ता डॉ राहुल राय के नेतृत्व में गांव की मिट्टी स्वतंत्र देव सिंह को भेंट की गई। ग्रामीणों ने नम आंखों से निवेदन किया “अष्ट शहीदों के गांव की यह पवित्र मिट्टी आपको दी जा रही है। जिसके एवज में हमारा निवेदन है की गांव की माटी की रक्षा करें।” इस वाक्ये से भावुक हो चुके स्वतंत्र देव सिंह ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार के प्रतिनिधि के रूप में घोषणा कर रहा हूं कि इस पवित्र गांव के अस्तित्व को संकट नहीं आने दी जाएगी। उन्होंने बाढ व कटान से बचाव के लिए तमाम निर्माण का निरीक्षण करते हुए अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिया।
सं प्रदीप
वार्ता
image