Thursday, Mar 21 2019 | Time 20:01 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • मोदी वाराणसी, शाह गांधी नगर, राजनाथ लखनऊ से भाजपा प्रत्याशी होगे
  • भाजपा के लोकसभा उम्मीदवारों की पहली सूची जारी
  • एसटीएफ ने पांच तस्करों को किया गिरफ्तार,65 लाख का गांजा बरामद
  • मध्यप्रदेश में होली का उल्लास
  • चीन में विस्फोट से छह की मौत, 30 घायल
  • श्रीनगर में व्यवसायियों ने हिरासत में मौत के विराेध में किया प्रदर्शन
  • बैंककर्मी से लूट मामले में चार गिरफ्तार
  • मिस्र में फैक्टरी में विस्फोट से 15 मरे
  • जहरीली शराब पीने से शिक्षक की मौत
  • वियतनाम के आठ छात्र नदी में डूबे
  • इनेलो विधायक रणबीर सिंह गंगवा भाजपा में शामिल
  • होली पर हुड़दंग करने वालों के खिलाफ पुलिस सख्त
  • शत्रुघ्न सिन्हा ने मोदी पर होली के बहाने फिर कसा तंज
  • पुलवामा घटना एक साजिश थी,नई सरकार बनने पर जांच होगी: रामगोपाल
मनोरंजन » कला एवं रंगमंच


खलनायकी को नयी पहचान दी अमरीश पुरी ने

खलनायकी को नयी पहचान दी अमरीश पुरी ने

..पुण्यतिथि 12 जनवरी ..
मुंबई 11 जनवरी (वार्ता) बॉलीवुड में अमरीश पुरी को एक ऐसे अभिनेता के तौर पर याद किया जाता है जिन्होंने अपनी कड़क आवाज, रौबदार भाव-भंगिमाओं और दमदार अभिनय के बल पर खलनायकी को एक नयी पहचान दी।

रंगमंच से फिल्मों के रूपहले पर्दे तक पहुंचे अमरीश पुरी ने करीब तीन दशक में लगभग 250 फिल्मों में अभिनय का जौहर दिखाया।
आज के दौर में जब कलाकार किसी अभिनय प्रशिक्षण संस्था से प्रशिक्षण लेकर अभिनय जीवन की शुरूआत करते हैं, अमरीश पुरी खुद एक चलते फिरते अभिनय प्रशिक्षण संस्था थे।

पंजाब के नौशेरां गांव में 22 जून 1932 में जन्में अमरीश पुरी ने अपने करियर की शुरूआत श्रम मंत्रालय में नौकरी से की और उसके साथ ही सत्यदेव दुबे के नाटकों में अपने अभिनय का जौहर दिखाया।
बाद में वह पृथ्वी राज कपूर के ‘पृथ्वी थियेटर’ में बतौर कलाकार अपनी पहचान बनाने में सफल हुए।

पचास के दशक में अमरीश पुरी ने हिमाचल प्रदेश के शिमला से बीए पास करने के बाद मुंबई का रूख किया।
उस समय उनके बड़े भाई मदन पुरी हिन्दी फिल्म में बतौर खलनायक अपनी पहचान बना चुके थे।
वर्ष 1954 में अपने पहले फिल्मी स्क्रीन टेस्ट में अमरीश पुरी सफल नहीं हुये।
अमरीश पुरी ने अपने जीवन के 40वें वसंत से अपने फिल्मी जीवन की शुरूआत की थी।
वर्ष 1971 में बतौर खलनायक उन्होंने फिल्म रेशमा और शेरा से अपने कैरियर की शुरूआत की लेकिन इस फिल्म से दर्शकों के बीच वह अपनी पहचान नहीं बना सके।
उस जमाने के मशहूर बैनर बाम्बे टॉकीज में कदम रखने बाद उन्हें बड़े-बड़े बैनर की फिल्में मिलनी शुरू हो गयी।
उन्होंने खलनायकी को ही अपने कैरियर का आधार बनाया।
इन फिल्मों में निंशात, मंथन, भूमिका, कलयुग और मंडी जैसी सुपरहिट फिल्में भी शामिल हैं।

इस दौरान यदि अमरीश पुरी की पसंद के किरदार की बात करें तो उन्होंने सबसे पहले अपना मनपसंद और न कभी नहीं भुलाया जा सकने वाला किरदार गोविन्द निहलानी की वर्ष 1983 में प्रदर्शित कलात्मक फिल्म अर्द्धसत्य में निभाया।
इस फिल्म में उनके सामने कला फिल्मों के अजेय योद्धा ओमपुरी थे।
इसी बीच हरमेश मल्होत्रा की वर्ष 1986 मे प्रदर्शित सुपरहिट फिल्म.नगीना.में उन्होंने एक सपेरे की भूमिका निभायी जो लोगो को बहुत भायी।
इच्छाधारी नाग को केन्द्र में रख कर बनी इस फिल्म में श्रीदेवी और उनका टकराव देखने लायक था।

वर्ष 1987 में उनके कैरियर में अभूतपूर्व परिवर्तन हुआ।
वर्ष 1987 में अपनी पिछली फिल्म ‘मासूम’ की सफलता से उत्साहित शेखर कपूर बच्चों पर केन्द्रित एक और फिल्म बनाना चाहते थे जो ‘इनविजबल मैन’ के उपर आधारित थी।
इस फिल्म में नायक के रूप में अनिल कपूर का चयन हो चुका था जबकि कहानी की मांग को देखते हुये खलनायक के रूप में ऐसे कलाकार की मांग थी जो फिल्मी पर्दे पर बहुत ही बुरा लगे।
इस किरदार के लिये निर्देशक ने अमरीश पुरी का चुनाव किया जो फिल्म की सफलता के बाद सही साबित हुआ।
इस फिल्म में अमरीश पुरी द्वारा निभाये गये किरदार का नाम था ‘मोगैम्बो’ और यही नाम इस फिल्म के बाद उनकी पहचान बन गया ।

जहां भारतीय मूल के कलाकार को विदेशी फिल्मों में काम करने की जगह नहीं मिल पाती है वही अमरीश पुरी ने स्टीवन स्पीलबर्ग की मशहूर फिल्म ‘इंडियाना जोंस एंड द टेंपल आफ डूम’ में खलनायक के रूप में काली के भक्त का किरदार निभाया।
इसके लिये उन्हें अंतराष्ट्रीय ख्याति भी प्राप्त हुयी ।
इस फिल्म के पश्चात उन्हें हालीवुड से कई प्रस्ताव मिले जिन्हे उन्होनें स्वीकार नहीं किया क्योंकि उनका मानना था कि हालीवुड में भारतीय मूल के कलाकारों को नीचा दिखाया जाता है।
लगभग चार दशक तक अपने दमदार अभिनय से दर्शकों के दिल में अपनी खास पहचान बनाने वाले अमरीश पुरी ने 12 जनवरी 2005 को इस दुनिया को अलविदा कह दिया।

 
वार्ता

घर

घर मोरे परदेसिया के लिये कड़ी मेहनत की : आलिया भट्ट

मुंबई 21 मार्च (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेत्री आलिया भट्ट का कहना है कि उन्होंने आने वाली फिल्म कलंक के गाने घर मोरे परदेसिया के लिये कड़ी मेहनत की है।

रूमानी

रूमानी अभिनय से दर्शकों को दीवाना बनाया रानी ने

..जन्मदिन 21 मार्च के अवसर पर ..
मुंबई 20 मार्च (वार्ता)बॉलीवुड में रानी मुखर्जी का नाम एक ऐसी अभिनेत्री के तौर पर शुमार किया जाता है जिन्होंने न सिर्फ रूमानी अभिनय से बल्कि अपने संजीदा अभिनय से भी दर्शकों को अपना दीवाना बनाया है।

फिल्म

फिल्म इंडस्ट्री में अच्छे दोस्त नहीं मिलते हैं: सनी लियोनी

मुंबई 15 मार्च (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेत्री सनी लियोनी का कहना है कि फिल्म इंडस्ट्री में अच्छे दोस्त नहीं मिलते हैं।

बधाई

बधाई हो का रीमेक बनायेगे बोनी कपूर

मुंबई 21 मार्च (वार्ता) बॉलीवुड फिल्मकार बोनी कपूर ने सुपरहिट हिंदी फिल्म ‘बधाई हो’ का रीमेक बनाने का फैसला किया है।

श्रोताओं

श्रोताओं को आज भी मंत्रमुग्ध कर रही हैं अलका

.. जन्मदिन 20 मार्च के अवसर पर पर ..
मुंबई 19 मार्च (वार्ता)आकाशवाणी कोलकाता से अपने करियर की शुरूआत करके शोहरत की बुलंदियों तक पहुंचने वाली बॉलीवुड की सुप्रसिद्ध पार्श्वगायिका अलका याज्ञनिक अपने गानों से आज भी श्रोताओं के दिलों पर राज कर रही हैं।

बदला

बदला ने पहले सप्ताह 38 करोड़ की कमाई की

मुंबई 15 मार्च (वार्ता) बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन की फिल्म बदला ने पहले सप्ताह में 38 करोड़ की कमाई कर ली है।

छत्रपति

छत्रपति शिवाजी का किरदार निभाना चाहते हैं आमिर खान

मुंबई 21 मार्च (वार्ता) बॉलीवुड के मिस्टर परफेक्शनिस्ट आमिर खान सिल्वर स्क्रीन पर छत्रपति शिवाजी का किरदार निभाना चाहते हैं।

छत्रपति

छत्रपति शिवाजी का किरदार निभाना चाहते हैं आमिर खान

मुंबई 21 मार्च (वार्ता) बॉलीवुड के मिस्टर परफेक्शनिस्ट आमिर खान सिल्वर स्क्रीन पर छत्रपति शिवाजी का किरदार निभाना चाहते हैं।

परिणीति

परिणीति ने केसरी की तस्वीर शेयर की

मुंबई 15 मार्च (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेत्री परिणीति चोपड़ा ने अपनी आने वाली फिल्म केसरी की तस्वीर सोशल मीडिया पर शेयर की है।

सलमान

सलमान और आलिया को लेकर फिल्म बनायेंगे भंसाली

मुंबई 20 मार्च (वार्ता) बॉलीवुड के जाने माने फिल्मकार संजय लीला भंसाली, दबंग स्टार सलमान खान और अभिनेत्री आलिया भट्ट को लेकर फिल्म बनाने जा रहे हैं।

पॉप गायिकी को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलायी माइकल जैक्सन ने

पॉप गायिकी को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलायी माइकल जैक्सन ने

..जन्मदिवस 29 अगस्त के अवसर पर ..
मुंबई 28 अगस्त(वार्ता)किंग ऑफ पॉप माइकल जैक्सन को ऐसी शख्सियत के तौर पर याद किया जाता है जिन्होंने पॉप संगीत की दुनिया को पूरी तरह बदलकर अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान बनायी है।

दिल्ली में भी होगा फिल्म उद्योग, डियोरामा अंतरराष्ट्रीय फिल्म समारोह आरंभ

दिल्ली में भी होगा फिल्म उद्योग, डियोरामा अंतरराष्ट्रीय फिल्म समारोह आरंभ

नयी दिल्ली 15 जनवरी (वार्ता) दिल्ली में भी फिल्म उद्योग स्थापित करने के मकसद से पहले डियोरामा अंतरराष्ट्रीय फिल्म समारोह एवं विपणन 2019 की कल रात यहां देश-विदेश के फिल्मी जगत के लोगों की मौजूदगी में शुरूआत हुयी।

“जो भी हो तुम खुदा की कसम लाजवाब हो”

“जो भी हो तुम खुदा की कसम लाजवाब हो”

पुण्यतिथि 07 मार्च के अवसर पर ..
मुंबई 06 मार्च (वार्ता) अपनी मधुर संगीत लहरियों से लगभग चार दशक तक श्रोताओं को दीवाना बनाने वाले रवि का नाम एक ऐसे संगीतकार के रूप में याद किया जाता है जिनके संगीतबद्ध गीत को सुनकर श्रोताओं के दिलों से बस एक ही आवाज निकलती है, “जो भी हो तुम खुदा की कसम लाजवाब हो” संगीतकार रवि जिनका मूल नाम रवि शंकर शर्मा था।

रूमानी अभिनय से दर्शकों को दीवाना बनाया रानी ने

रूमानी अभिनय से दर्शकों को दीवाना बनाया रानी ने

..जन्मदिन 21 मार्च के अवसर पर ..
मुंबई 20 मार्च (वार्ता)बॉलीवुड में रानी मुखर्जी का नाम एक ऐसी अभिनेत्री के तौर पर शुमार किया जाता है जिन्होंने न सिर्फ रूमानी अभिनय से बल्कि अपने संजीदा अभिनय से भी दर्शकों को अपना दीवाना बनाया है।

image