Wednesday, Apr 24 2019 | Time 19:21 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • कश्मीर के डोडा में बस दुर्घटना में 15 घायल
  • जांच के दौरान 63 नामांकन रद्द, दिग्गजों समेत अब 240 उम्मीदवार मैदान में
  • गुजरात के सुरेन्द्रनगर में गोलीबारी में एक घायल
  • एआरआरसी के दूसरे राउण्ड के लिए पहुंची आॅस्ट्रेलिया पहुंची होंडा टीम
  • मोदी का वाराणसी में पहला चुनावी ‘रोड शो’ गुरुवार को, 26 को करेंगे नामांकन
  • मोदी का वाराणसी में पहला चुनावी ‘रोड शो’ गुरुवार को, 26 को करेंगे नामांकन
  • अलागिरि के पुत्र की 40 34 करोड़ की संपत्ति जब्त
  • देश में न्यायिक व्यवस्था चरमरा गई है-गहलोत
  • चीन ने इंटरपोल के पूर्व प्रमुख मेंग को किया गिरफ्तार
  • रेडमी ने उतारे रेडमी7 और रेडमी वाई3 फोन
  • चीन में रसायन संयंत्र में विस्फोट, चार की मौत, 35 घायल
  • अमित और विकी को रजत, राहुल, दीपक और सुमित को कांस्य
  • आग के कारण 350 एकड़ क्षेत्र में गेहूँ की फसल जली
  • सिरिसेना ने पुलिस प्रमुख, रक्षा सचिव को इस्तीफा देने के लिए कहा
  • अंडा व्यवसायी से लूट के मामले में पांच गिरफ्तार
मनोरंजन » फिल्म समीक्षा


शिक्षा प्रणाली पर सवाल उठाती ‘हिंदी मीडियम’

शिक्षा प्रणाली पर सवाल उठाती ‘हिंदी मीडियम’

नयी दिल्ली, 20 मई (वार्ता) सामाजिक सरोकार से जुड़ी फिल्मों को बॉलीवुड में पहचान मिलने लगी है।
ऐसी ही शिक्षा जैसी महत्वपूर्ण मुद्दे से जुड़ी है निर्देशक साकेत चौधरी की फिल्म ‘हिन्दी मीडियम’।
फिल्म में इरफान खान और दीपक डोबरियाल के साथ पाकिस्तानी अदाकारा सबा कमर मुख्य भूमिका में है।
कहानी: यह कहानी दिल्ली की है जहां के चांदनी चौक के बाजार में राज बत्रा (इरफान खान) लहंगे की दुकान चलाता है और उसके पास पैसे की कोई कमी नहीं।
वह पत्नी मीता (सबा कमर) से बहुत प्यार करता है।
दोनों की बेटी है पिया, जिसका एडमिशन मीता किसी निजी अंग्रेजी स्कूल में कराना चाहती है।
मिशन एडमिशन के तहत राज और मीता दिल्ली के बड़े स्कूलाें की खाक छानते हैं और बेटी के एडमिशन के लिये चांदनी चौक छोड़ दिल्ली के पॉश इलाके वसंत विहार में शिफ्ट हो जाते है।
पिया को किसी अच्छे अंग्रेजी माध्यम स्कूल में दाखिला नहीं मिलने पर दोनों गरीबों के लिए आरक्षित कोटे में दाखिले का प्रयास भी करते हैं और सफल हो जाते है।
लेकिन इसके बाद रवि को अपनी गलती का एहसास होता है कि उसने किसी गरीब का हक मारा है।
यहां से फिल्म का ट्रैक बदलता है और यह दिखाया जाता है कि किस तरह अमीर लोग गरीबों का हक छीन रहे हैं और शिक्षा का अधिकार कानून का दुरुपयोग हो रहा है।
निर्देशन : ‘प्यार के साइड इफेक्ट्स’ और ‘शादी के साइड इफेक्ट्स’ जैसी फिल्मों का निर्देशन करने वाले साकेत चौधरी ‘हिन्दी मीडियम’ के जरिये शिक्षा प्रणाली के साइड इफेक्ट्स को लोगों के सामने ला रहे हैं।
अच्छे विषय के साथ न्याय करने में वह कामयाब रहें।
उन से चूक फिल्म के क्लाइमेक्स में हुई जो नाटकीय लगता है।
अभिनय: इरफान खान ऐसे अभिनेता है जिनकी आंखें भी बाेलती हैं और इस फिल्म को देखने के बाद लगा की एक कारोबारी, पिता और पति का किरदार इस शानदार ढंग से शायद ही काेई और निभा पाता।
फिल्म के आखिर में उनका मोनोलॉग सीख देता है।
सबा कमर पति को अंगुलियों पर नचाने वाली पत्नी के किरदार में खूब जमी हैं।
दीपक डोबरियाल ने गरीब इंसान के किरदार में प्रभावित किया है।
काउंसलर की भूमिका में तिलोत्तमा शोम उपस्थिति दर्ज कराने में कामयाब रहीं।
अमृता सिंह, नेहा धूपिया और संजय सूरी के लिये फिल्म में ज्यादा कुछ नहीं था।
गीत संगीत: फिल्म में गाने कम हैं, आतिफ असलम की आवाज में ‘हूर’ सुकून देता है ।
गुरु रंधावा का ‘सूट-सूट’ पार्टी नंबर है जो रिलीज से पहले ही हिट हो चुका है।
देखे या ना देखें : नया आैर आम लोंगों से जुड़ा विषय होने के कारण हम इस फिल्म को देखने की सलाह देंगें।
फिल्म सिर्फ भाषा ही नहीं बल्कि शिक्षा प्रणाली की दूसरी खामियों को भी उजागर करती है।
फिल्म की कमजोर कड़ी इसका आखिरी हिस्सा है जो सच्चाई की जगह नाटकीय लगता है।
पूरी फिल्म दर्शकों को बांधे रखती है लेेकिन आखरी हिस्से में यह जुड़ाव थोड़ा कम हो जाता है।
रेटिंग : शानदार अभिनय इस फिल्म को और भी दमदार बनाता है जिससे दूसरी खामियां ढक जाती है ।
फिल्म को हमारी तरफ से पांच में से साढे तीन अंक (3.5*/5*) अमित, यामिनी वार्ता

दक्षिण

दक्षिण भारतीय फिल्म में खलनायक का किरदार निभायेंगे शाहरूख खान!

मुंबई 24 अप्रैल (वार्ता) बॉलीवुड के किंग खान शाहरूख खान दक्षिण भारतीय फिल्म थालापैथी 63 में खलनायक
का किरदार निभाते नजर आ सकते हैं।

रणबीर

रणबीर के साथ लिव-इन में रहने नहीं जा रही है आलिया

मुंबई 24 अप्रैल (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेत्री आलिया भट्ट ने कहा है कि वह रणबीर कपूर के साथ लिव-इन में रहने नही जा रही है।

उड़नपरी

उड़नपरी का किरदार निभायेगी कैटरीना कैफ!

मुंबई 24 अप्रैल (वार्ता) बॉलीवुड की बार्बी गर्ल कैटरीना कैफ सिल्वर स्क्रीन पर उड़नपरी पी.टी.उषा का किरदार निभाती
नजर आ सकती है।

भारत

भारत में सलमान अपने लुक को लेकर काफी सजग थे : जफर

मुंबई 24 अप्रैल (वार्ता) बॉलीवुड निर्देशक अली अब्बास जफर का कहना है कि सलमान खान फिल्म भारत में अपने लुक को लेकर बहुत सजग थे।

करण

करण जौहर की फिल्म से डेब्यू करना चाहती है खुशी कपूर

मुंबई 24 अप्रैल (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेत्री श्रीदेवी और फिल्मकार बोनी कपूर की बेटी खुशी कपूर ,करण जौहर की फिल्म से डेब्यू करना चाहती है।

बॉक्स

बॉक्स ऑफिस पर फिल्म की असफलता पर स्ट्रेस नही लेती सोनाक्षी

मुंबई 23 अप्रैल (वार्ता) बॉलीवुड की दबंग गर्ल सोनाक्षी सिन्हा का कहना है कि वह बॉक्स ऑफिस पर फिल्म की असफलता पर स्ट्रेस नही लेती है।

अभी

अभी डेब्यू नहीं कर रही है न्यासा :काजोल

मुंबई 23 अप्रैल (वार्ता) जानी मानी अभिनेत्री काजोल का कहना है कि उनकी बेटी न्यासा अभी बॉलीवुड में डेब्यू नही कर रही है।

तेरे

तेरे नाम का सीक्वल बनायेंगे सतीश कौशिक

मुंबई 23 अप्रैल (वार्ता) बॉलीवुड के जाने माने निर्देशक सतीश कौशिक अपनी सुपरहिट फिल्म तेरे नाम का सीक्वल बनाने जा रहे हैं।

शाहरूख

शाहरूख को पसंद आया भारत का ट्रेलर

मुंबई 23 अप्रैल (वार्ता) बॉलीवुड के किंग खान शाहरूख खान को सलमान खान की आने वाली फिल्म भारत का ट्रेलर पसंद आया है।

सत्यजीत

सत्यजीत रे ने बाइसाईकिल थीफस देख किया फिल्म निर्माण का इरादा

..पुण्यतिथि 23 अप्रैल ..
मुंबई 22 अप्रैल(वार्ता) भारतीय सिनेमा जगत में युगपुरूष सत्यजीत रे को एक ऐसे फिल्मकार के तौर पर याद किया जाता है जिन्होंने अपनी निर्मित फिल्मों के जरिये भारतीय सिनेमा जगत को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर विशिष्ट पहचान दिलाई।

पॉप गायिकी को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलायी माइकल जैक्सन ने

पॉप गायिकी को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलायी माइकल जैक्सन ने

..जन्मदिवस 29 अगस्त के अवसर पर ..
मुंबई 28 अगस्त(वार्ता)किंग ऑफ पॉप माइकल जैक्सन को ऐसी शख्सियत के तौर पर याद किया जाता है जिन्होंने पॉप संगीत की दुनिया को पूरी तरह बदलकर अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान बनायी है।

दिल्ली में भी होगा फिल्म उद्योग, डियोरामा अंतरराष्ट्रीय फिल्म समारोह आरंभ

दिल्ली में भी होगा फिल्म उद्योग, डियोरामा अंतरराष्ट्रीय फिल्म समारोह आरंभ

नयी दिल्ली 15 जनवरी (वार्ता) दिल्ली में भी फिल्म उद्योग स्थापित करने के मकसद से पहले डियोरामा अंतरराष्ट्रीय फिल्म समारोह एवं विपणन 2019 की कल रात यहां देश-विदेश के फिल्मी जगत के लोगों की मौजूदगी में शुरूआत हुयी।

सत्यजीत रे ने बाइसाईकिल थीफस देख किया फिल्म निर्माण का इरादा

सत्यजीत रे ने बाइसाईकिल थीफस देख किया फिल्म निर्माण का इरादा

..पुण्यतिथि 23 अप्रैल ..
मुंबई 22 अप्रैल(वार्ता) भारतीय सिनेमा जगत में युगपुरूष सत्यजीत रे को एक ऐसे फिल्मकार के तौर पर याद किया जाता है जिन्होंने अपनी निर्मित फिल्मों के जरिये भारतीय सिनेमा जगत को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर विशिष्ट पहचान दिलाई।

भारतीय सिनेमा जगत के युगपुरूष थे बी.आर. चोपड़ा

भारतीय सिनेमा जगत के युगपुरूष थे बी.आर. चोपड़ा

..जन्मदिवस 22 अप्रैल  ..
मुम्बई 21 अप्रैल (वार्ता) भारतीय सिनेमा जगत में बी.आर.चोपड़ा को एक ऐसे फिल्मकार के रूप में याद किया जायेगा जिन्होंने पारिवारिक, सामाजिक और साफ-सुथरी फिल्में बनाकर लगभग पांच दशक तक सिने प्रेमियों के दिलो-दिमाग में
अपनी खास जगह बनायी।

image