Thursday, Jul 9 2020 | Time 06:03 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • नाइजीरिया में विद्रोहियों के हमले में 20 सैनिकों की मौत
  • यूक्रेन के जंगल में लगी आग से मरने वालों की संख्या पांच पहुंची
  • अमेरिका में स्कूल खोलने के लिए दबाव डाल रहा है व्हाइट हाउस
  • इराक में एक दिन में कोरोना के सर्वाधिक 2741 मामले दर्ज हुए
  • चीन में भूस्खलन से चार लोगों की मौत, चार लापता
  • बेलारुस में कोरोना से कुल 64224 संक्रमित
  • नाइजीरिया में तेल प्लांट में विस्फोट, सात की मौत
  • जगदीप के निधन पर बॉलीवुड सितारों ने जताया शोक
  • मोरक्को मेें कोरोना के 164 नए मामले, कुल 14771 संक्रमित
  • उत्तराखंड में अब पर्यटकों को क्वारंटीन होना जरुरी नहीं
मनोरंजन » फिल्म समीक्षा


शिक्षा प्रणाली पर सवाल उठाती ‘हिंदी मीडियम’

शिक्षा प्रणाली पर सवाल उठाती ‘हिंदी मीडियम’

नयी दिल्ली, 20 मई (वार्ता) सामाजिक सरोकार से जुड़ी फिल्मों को बॉलीवुड में पहचान मिलने लगी है।
ऐसी ही शिक्षा जैसी महत्वपूर्ण मुद्दे से जुड़ी है निर्देशक साकेत चौधरी की फिल्म ‘हिन्दी मीडियम’।
फिल्म में इरफान खान और दीपक डोबरियाल के साथ पाकिस्तानी अदाकारा सबा कमर मुख्य भूमिका में है।
कहानी: यह कहानी दिल्ली की है जहां के चांदनी चौक के बाजार में राज बत्रा (इरफान खान) लहंगे की दुकान चलाता है और उसके पास पैसे की कोई कमी नहीं।
वह पत्नी मीता (सबा कमर) से बहुत प्यार करता है।
दोनों की बेटी है पिया, जिसका एडमिशन मीता किसी निजी अंग्रेजी स्कूल में कराना चाहती है।
मिशन एडमिशन के तहत राज और मीता दिल्ली के बड़े स्कूलाें की खाक छानते हैं और बेटी के एडमिशन के लिये चांदनी चौक छोड़ दिल्ली के पॉश इलाके वसंत विहार में शिफ्ट हो जाते है।
पिया को किसी अच्छे अंग्रेजी माध्यम स्कूल में दाखिला नहीं मिलने पर दोनों गरीबों के लिए आरक्षित कोटे में दाखिले का प्रयास भी करते हैं और सफल हो जाते है।
लेकिन इसके बाद रवि को अपनी गलती का एहसास होता है कि उसने किसी गरीब का हक मारा है।
यहां से फिल्म का ट्रैक बदलता है और यह दिखाया जाता है कि किस तरह अमीर लोग गरीबों का हक छीन रहे हैं और शिक्षा का अधिकार कानून का दुरुपयोग हो रहा है।
निर्देशन : ‘प्यार के साइड इफेक्ट्स’ और ‘शादी के साइड इफेक्ट्स’ जैसी फिल्मों का निर्देशन करने वाले साकेत चौधरी ‘हिन्दी मीडियम’ के जरिये शिक्षा प्रणाली के साइड इफेक्ट्स को लोगों के सामने ला रहे हैं।
अच्छे विषय के साथ न्याय करने में वह कामयाब रहें।
उन से चूक फिल्म के क्लाइमेक्स में हुई जो नाटकीय लगता है।
अभिनय: इरफान खान ऐसे अभिनेता है जिनकी आंखें भी बाेलती हैं और इस फिल्म को देखने के बाद लगा की एक कारोबारी, पिता और पति का किरदार इस शानदार ढंग से शायद ही काेई और निभा पाता।
फिल्म के आखिर में उनका मोनोलॉग सीख देता है।
सबा कमर पति को अंगुलियों पर नचाने वाली पत्नी के किरदार में खूब जमी हैं।
दीपक डोबरियाल ने गरीब इंसान के किरदार में प्रभावित किया है।
काउंसलर की भूमिका में तिलोत्तमा शोम उपस्थिति दर्ज कराने में कामयाब रहीं।
अमृता सिंह, नेहा धूपिया और संजय सूरी के लिये फिल्म में ज्यादा कुछ नहीं था।
गीत संगीत: फिल्म में गाने कम हैं, आतिफ असलम की आवाज में ‘हूर’ सुकून देता है ।
गुरु रंधावा का ‘सूट-सूट’ पार्टी नंबर है जो रिलीज से पहले ही हिट हो चुका है।
देखे या ना देखें : नया आैर आम लोंगों से जुड़ा विषय होने के कारण हम इस फिल्म को देखने की सलाह देंगें।
फिल्म सिर्फ भाषा ही नहीं बल्कि शिक्षा प्रणाली की दूसरी खामियों को भी उजागर करती है।
फिल्म की कमजोर कड़ी इसका आखिरी हिस्सा है जो सच्चाई की जगह नाटकीय लगता है।
पूरी फिल्म दर्शकों को बांधे रखती है लेेकिन आखरी हिस्से में यह जुड़ाव थोड़ा कम हो जाता है।
रेटिंग : शानदार अभिनय इस फिल्म को और भी दमदार बनाता है जिससे दूसरी खामियां ढक जाती है ।
फिल्म को हमारी तरफ से पांच में से साढे तीन अंक (3.5*/5*) अमित, यामिनी वार्ता

वरुण

वरुण धवन के इंस्टाग्राम पर हुए तीन करोड़ फॉलोअर

मुंबई 08 जुलाई (वार्ता) बॉलीवुड के चॉकलेटी हीरो वरुण धवन के प्रशंसकों की संख्या इंस्टाग्राम पर तीन करोड़ हो गयी है।

‘मैट्रिक्स

‘मैट्रिक्स 4' में काम करेंगी प्रियंका चोपड़ा!

मुंबई, 07 जुलाई (वार्ता) बॉलीवुड की देसी गर्ल प्रियंका चोपड़ा हॉलीवुड फिल्म ‘मैट्रिक्स 4' में नजर आ सकती है।

अनिल

अनिल कपूर की फिटनेस के कायल हुए ऋतिक रोशन

मुंबई 08 जुलाई (वार्ता) बॉलीवुड के माचो मैन ऋतिक रोशन, अनिल कपूर की फिटनेस के कायल हो गये हैं।

ऋतिक-प्रभास

ऋतिक-प्रभास को लेकर फिल्म बनायेंगे ओम राउत

मुंबई, 07 जुलाई (वार्ता) बॉलीवुड निर्देशक ओम राउत माचो मैन ऋतिक रौशन और बाहुबली स्टार प्रभास को लेकर फिल्म बना सकते हैं।

तीन

तीन महीने बाद शूटिंग पर लौटीं तापसी पन्नू

मुंबई 08 जुलाई (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेत्री तापसी पन्नू तीन महीने के बाद शूटिंग पर वापस लौट आयी हैं।

अमिताभ

अमिताभ बच्चन को आई चॉकलेट की याद

मुंबई 07 जुलाई (वार्ता) बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन को ‘वर्ल्ड चॉकलेट डे’ पर चॉकलेट की याद आयी है।

संवाद अदायगी के बादशाह थे राजकुमार

संवाद अदायगी के बादशाह थे राजकुमार

.. पुण्यतिथि 03 जुलाई  ..
मुंबई 02 जुलाई (वार्ता) हिन्दी सिनेमा जगत में यूं तो अपने दमदार अभिनय से कई सितारों ने दर्शकों के दिलों पर राज किया लेकिन एक ऐसा भी सितारा हुआ जिसने न सिर्फ दर्शकों के दिल पर राज किया बल्कि फिल्म इंडस्ट्री ने भी उन्हें ..राजकुमार.. माना. वह थे ..संवाद अदायगी के बेताज बादशाह कुलभूषण पंडित उर्फ राजकुमार .. ।

बिंदास अभिनय से पहचान बनायी करिश्मा कपूर ने

बिंदास अभिनय से पहचान बनायी करिश्मा कपूर ने

.जन्मदिन 25 जून .
मुंबई, 25 जून (वार्ता) बॉलीवुड में करिश्मा कपूर को एक ऐसी अभिनेत्री के तौर पर शुमार किया जाता है जिन्होंने अभिनेत्रियों को फिल्मों में परंपरागत रूप से पेश किये जाने के तरीके को बदलकर अपने बिंदास अभिनय से दर्शको के बीच अपनी खास पहचान बनायी।

image