Thursday, May 28 2020 | Time 13:44 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • महाराष्ट्र पुलिस के 2095 कोरोना योद्धा संक्रमित, 22 की मौत
  • अरुणाचल में सुरक्षा बलों ने भारी मात्रा में हथियार और गोला बारुद बरामद किए
  • पेरु में एक दिन में कोरोना के रिकाॅर्ड 6154 नये मामले
  • छत्तीसगढ़ में इनामी नक्सली ने किया समर्पण
  • फिलीपींस के लुजोन द्वीप में भूकंप के मध्यम झटके
  • प रेलवे से आठ पार्सल विशेष ट्रेन रवाना
  • जर्मनी में कोरोना के 353 नये मामले, संक्रमितों की संख्या 179717 हुई
  • अफगानिस्तान में आतंकवादी हमला, सात पुलिसकर्मियों की मौत
  • लीबिया में कर्फ्यू की मियाद 10 दिन बढ़ी
  • शाही लीची तैयार, जल्द देगी बाजार में दस्तक
  • शाही लीची तैयार, जल्द देगी बाजार में दस्तक
  • सारण में प्रॉपर्टी डीलर की गोली मारकर हत्या
  • किसी देश पर निर्भर नहीं रहेगा डब्ल्यूएचओ, अलग फाउंडेशन की स्थापना
  • स्पाइसजेट ने तीन क्यू400 विमानों को मालवाहक में बदला
  • राजस्थान में कोरोना संक्रमित संख्या 7947 पहुंची, छह की मौत
राज्य » अन्य राज्य


जहरीली शराब कांड मामले में कांग्रेस ने की मुख्यमंत्री से इस्तीफे की मांग

जहरीली शराब कांड मामले में कांग्रेस ने की मुख्यमंत्री से इस्तीफे की मांग

देहरादून 21 सितम्बर (वार्ता) उत्तराखंड प्रदेश कांग्रेस ने देहरादून में जहरीली शराब से छह लोगों की मौत और अन्य छह का उपचार के मामले में मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत से इस्तीफा देने की मांग की।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने शनिवार को संवाददाताओं से कहा कि इस घटना से जाहिर हो गया कि त्रिवेंद्र सरकार विभागों को संभालने में विफल रही है और कांग्रेस मुख्यमंत्री से तत्काल इस्तीफा देने की मांग करती है और और जन संघर्ष मोर्चा ने उनकी गिरफ्तारी की मांग की है।

श्री सिंह ने कहा कि सरकार की नाक के नीचे ही जहरीली शराब का कारोबार चलना आश्चर्यजनक है। रुड़की में जहरीली शराब की दुर्भाग्यपूर्ण घटना से भी सरकार ने कोई सबक नहीं लिया। जनता सरकार की इस कार्यप्रणाली से अचंभित है। उन्होंने कहा कि पूरा प्रदेश पहले से ही डेंगू समेत तमाम बीमारियों की चपेट में है। मुख्यमंत्री के पास स्वास्थ्य मंत्रालय भी है। अब इस मामले में आबकारी विभाग की बड़ी गलती सामने आ गई है। यह विभाग भी मुख्यमंत्री संभाल रहे हैं। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि इससे यह साबित हो रहा है कि मुख्यमंत्री से विभाग संभल नहीं रहे हैं। उनकी इस लापरवाही के कारण जनता की मुसीबत बढ़ रही है।

दूसरी ओर, प्रतिदिन सूचना के अधिकार में साक्ष्य एकत्र कर सरकार की नींद खुलवाने के प्रयास में लगे जन संघर्ष मोर्चा ने विकासनगर में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में जहरीली शराब से हुई मौतों के मामले में आबकारी और गृहमंत्री त्रिवेन्द्र के विरुद्व हत्या का मुकदमा दर्ज कर उनकी गिरफ्तारी की मांग की।

मोर्चा अध्यक्ष रघुनाथ सिंह नेगी ने कहा कि मोर्चा पूर्व से ही मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र की माफियाओं से सांठगांठ को जगजाहिर कर चुका है। हैरानी की बात है राजधानी समेत पूरे प्रदेश में जहरीली शराब बिकने से जाहिर हाेता है कि निश्चित तौर पर गृह और आबकारी विभाग की इसमें सबसे बड़ी भूमिका है, क्योंकि अन्य प्रदेशों से बड़ी मात्रा में शराब, सरकार की शह पर राज्य में बिकती है।

उन्होंने कहा कि इसके लिए मुख्यमंत्री पूरी तरह जिम्मेदार हैं, क्योंकि इनके द्वारा पूर्व में शराब माफियाओं को लाभ पहुंचाने के लिए रातों-रात राज्य मार्ग को जिला मार्ग में परिवर्तित किया गया था तथा उच्चतम न्यायालय के आदेश को भी दरकिनार किया गया था।

श्री नेगी ने कहा कि इससे पहले भी हरिद्वार में लगभग 150 लोगों की मौत जहरीली शराब पीने से हुई थी, जिसका सीधा-सीधा मतलब यह है कि मुख्यमंत्री माफियाओं को संरक्षण दे रहे हैं तथा परोक्ष रूप से एक साझेदार की भूमिका निभा रहे हैं। उन्होंने राज्यपाल बेवी रानी मौर्य से आबकारी, गृहमंत्री पर हत्या का मुकदमा दर्ज करने की मांग की।

सं. उप्रेती

वार्ता

More News
केरल में मछुआरों को समुद्र से दूर रहने की सलाह

केरल में मछुआरों को समुद्र से दूर रहने की सलाह

28 May 2020 | 9:17 AM

तिरुवनंतपुरम 28 मई (वार्ता) दक्षिण पूर्व और उससे सटे पूर्व मध्य अरब सागर पर कम दबाव विकसित होने के अनुमान को देखते हुए मछुआरों को 31 मई से चार जून तक मछली पकड़ने के लिए गहरे समुद्र में नहीं जाने की सलाह दी गई है।

see more..
image