Sunday, Nov 18 2018 | Time 20:41 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • अग्रोहा ट्रस्ट ने आगरा का नाम बदल कर ‘अग्रन‘ करने की मांग की
  • कांग्रेस के पास न कोई नीति और न ही नीयत: मोदी
  • मां-बेटी को ट्रैक्टर ने कुचला, बेटी की मौत
  • दुष्यंत चौटाला के आवास से हटा इनेलो का झंडा, अनेक समर्थकों ने इनेलो छोड़ी
  • फोटो कैप्शन तीसरा सेट
  • सैनिकों की बदौलत चैन की नींद सोता है पूरा देश : राजीव जैन
  • टीआरएस ने उम्मीदवारों की अंतिम सूची जारी की
  • राम मंदिर निर्माण को जल्द संसद में विधेयक लाए केंद्र सरकारः बाबा रामदेव
  • टीआरएस ने उम्मीदवारों की अंतिम सूची जारी की
  • प्रीतम सिंह ने बस दुर्घटना पर गहरा दुख व्यक्त किया
  • विश्व शौचालय दिवस कल
  • प्रधानमंत्री करेंगे हरियाणा में अनेक परियोजनाओं का उद्घाटन एवं शिलान्यास
  • कार्तिक ने यूरो जेके और राघुल ने एलजीबी-4 का खिताब जीता
  • मुख्य न्यायाधीश ने किए भगवान वेंकटेश्वर के दर्शन
मनोरंजन » फिल्म समीक्षा Share

पद्मावत से पहले भी विवादों में घिरी रही कई फिल्में

पद्मावत से पहले भी विवादों में घिरी रही कई फिल्में

मुंबई 24 जनवरी (वार्ता) संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘पद्मावत’ से पहले भी कई ऐसी फिल्में आई हैं, जिनका जबरदस्त विरोध हुआ है, लेकिन इसके बावजूद ये फिल्में सुपरहिट रही।

कल 25 जनवरी से प्रदर्शित होने वाली फिल्म 'पद्मावत' शुरू से ही विवादों से घिरी हुई है।
राजस्थान की करणी सेना ने भंसाली पर तथ्यों के साथ छेड़-छाड़ का आरोप लगाया है।
उन्होंने फिल्म के सेट को तहस-नहस करने के साथ भंसाली के साथ मार-पीट भी की।
कई राज्यों में फिल्म का विरोध चल रहा है।
फिल्म की रिलीज डेट पहले एक दिसंबर थी लेकिन रिलीज नही हो सकी।

सेंसर बोर्ड ने 'पद्मावत' को पिछले साल 30 दिसंबर को यू/ए प्रमाण पत्र देने का फैसला किया था।
फिल्म का नाम 'पद्मावती' से बदलकर 'पद्मावत' करने के साथ ही इसमें पांच संशोधन किए थे।
इसके बावजूद राजपूत संगठन श्री राजपूत कर्णी सेना अपनी मांग पर अड़ा था कि फिल्म प्रदर्शित नहीं की जानी चाहिए।
सर्वोच्च न्यायालय ने 25 जनवरी को फिल्म 'पद्मावत' को सभी राज्यों को फिल्म रिलीज के रास्ते में न आने का आदेश दे दिया है।

मौजूदा दशक में ही वर्ष 2001 की सुपरहिट फिल्म 'गदर: एक प्रेम कथा' भी विवादों से बच नहीं पाई थी. फिल्म तारा (सनी देओल) और सकीना (अमीषा पटेल) की कहानी थी. तारा सिख थे और सकीना मुस्लिम. भारत के बंटवारे के समय सकीना के परिवार वाले पाकिस्तान चले जाते हैं, लेकिन सकीना भारत में ही रह जाती हैं. इसके बाद तारा, सकीना के मांग में सिंदूर लगाकर उन्हें अपनी पत्नी बना लेता है. इस फिल्म को लेकर भारत के विभिन्न मुस्लिम गुटों ने विरोध जताया था. मुंबई, अहमदाबाद और भोपाल में इस फिल्म का बहुत विरोध हुआ था. लोगों का आरोप था कि फिल्म में कई ऐसी चीजें दिखाई गई हैं, जो हिंदुओं की भावनाओं को भड़काती हैं।

वर्ष 2002 में गुजरात में हुए दंगों को केंद्र में रखकर बनी परजानियां वर्ष 2007 में प्रदर्शित हुयी थी।
दंगे और सांप्रदायिक हिंसा फैलने के डर से कई राजनीतिक पार्टियों ने इसकी रिलीजिंग का विरोध किया,जिसके बाद इस पर प्रतिबंध लगा दिया गया।
निर्देशक राहुल ढोलकिया की इस फिल्म ने कई राष्‍ट्रीय और अंतरराष्‍ट्रीय पुरस्‍कार जीते।
वर्ष 2005 में प्रदर्शित निर्देशिका दीपा मेहता की फिल्म वाटर बेहद ही विवादित हुई थी।
इस फिल्म में लीसा रे व जॉन अब्राहम ने प्रमुख भूमिका निभाई थी।
फिल्म महिलाओं के अधिकारों से जुड़ी हुई थी।
इस फिल्म के कथानक का काफी विरोध हुआ था।
जिसमें दीपा मेहता को कट्टरपंथियों के विरोध का सामना करना पड़ा था।

वर्ष 2006 में प्रदर्शित मल्टी-स्टारर फिल्म 'रंग दे बसंती' में एक सीन था, जिसमें आमिर खान घोड़े पर सवार दिखते हैं. इस सीन पर मेनका गांधी ने सवाल खड़े कर दिए थे, क्योंकि फिल्म में जानवरों को इस्तेमाल करने के लिए अनुमति नहीं मांगी गई थी. सीन को फिल्म से हटा दिया गया था, लेकिन इसे लेकर विवाद जरूर हो गया था. इन सब के बावजूद फिल्म सुपरहिट साबित हुई थी।

वर्ष 2008 में आशुतोष गोवारिकर की फिल्म जोधा-अकबर ने भी तगड़ा विवाद झेला था।
राजस्थान के राजपूत संगठनों ने फिल्म के प्रदर्शन पर यह कहते हुए हंगामा किया था कि इसमें रानी जोधाबाई को अकबर की पत्नी के रूप में दर्शाया गया है।
उनके मुताबिक मारवाड़ के राजा उदय सिंह ने अपनी बेटी जोधा की शादी अकबर के पुत्र सलीम के साथ की थी।
लेकिन फिल्म में इतिहास को तोड़-मरोड़ कर पेश किया गया था।
विवाद के बाद राजस्थान के सिनेमाघरों में फिल्म प्रदर्शित नहीं की गई।

वर्ष 2010 में प्रदर्शित करण जौहर की फिल्म 'माय नेम इज खान' भी विवादों के घेरे में आ गयी थी।

शिवसेना ने फिल्म को रिलीज नहीं होने देने की धमकी दी थी।
वर्ष 2008 में मुंबई में ताज होटल पर हुए आतंकी हमले के बाद आइपीएल से पाकिस्तानी खिलाड़ियों को बैन कर दिया गया था।
'माय नेम इज खान' के अभिनेता शाहरुख खान ने कहा था कि आइपीएल से पाकिस्तानी खिलाड़ियों पर से बैन हटा लेना चाहिए. यह बात शिवसेना को अच्छी नहीं लगी और उन्होंने मुंबई में फिल्म को रिलीज ना होने देने की धमकी दी थी।

2012 में प्रदर्शित परेश रावल-अक्षय कुमार स्टारर ओम माई गॉड में हिंदु धर्म की सच्चाई को बहुत अच्छे तरीके से पेश किया गया था, लेकिन जब धर्म को फिल्म में दिखाया जाए तो विवाद होना तो तय है।
फिल्म की स्टार-कास्ट पर हिंदुओं की धार्मिक भावनाओं को आहत करने के आरोप में शिकायत भी दर्ज करवाई गई थी।
फिल्म को यूएई में बैन भी कर दिया गया था।

राजकुमार हिरानी की 2014 में प्रदर्शित पीके का भी कड़ा विरोध हुआ था।
फिल्म में विभिन्न धर्मों से जुड़े धर्मगुरुओं से संबंधित बातों को दर्शाया गया था।
इस दौरान फिल्म को बैन करने की मांग भी काफी तेज हो गई थी।
हालांकि सभी विवादों को दरकिनार करते हुए फिल्म को रिलीज किया गया।
रिलीज के बाद फिल्म ने अच्छी खासी कमाई की थी।

वर्ष 2014 में ही शाहिद कपूर, श्रद्धा कपूर और तब्बू स्टारर 'हैदर' भी विवाद में फंस गई थी।
दरअसल फिल्म में भारतीय आर्मी को जिस तरह से दिखाया गया था, उससे कुछ लोग खुश नहीं थे. इन सब के वाबजूद फिल्म हिट हुई थी।

वर्ष 2016 में प्रदर्शित अभिषेक चौबे निर्देशित उड़ता पंजाब फिल्म भी विवादों में रही।
सीबीएफसी के तत्कालीन प्रमुख पहलाज निहलानी ने टाइटल पर आपत्ति जताते हुए इसमें पंजाब शब्द हटाने की मांग की थी , हालांकि सेंसर बोर्ड की ओर से 94 कट के बाद फिल्म को रिलीज किया जा सका।

कबीर खान निर्देशित और सलमान खान अभिनीत फिल्‍म 'बजरंगी भाईजान' को विवादों का सामना करना पड़ा ।
फिल्‍म में सलमान के अलावा करीना कपूर, नवाजुद्दीन सिद्दिकी और हर्षाली मल्‍होत्रा ने मुख्‍य भूमिका निभाई थी।
फिल्म उस वक्‍त विवादों में आ गई थी जब एक पाकिस्‍तानी कव्‍वाली गायक अमजद साबरी ने आरोप लगाया था कि उनके पिता के गाये इस कव्‍वाली को बिना अनुमति के फिल्‍म में शामिल किया गया है ।
अमजद ने कहा था कि फिल्‍म में उनके दिवंगत पिता गुलाम फरीद साबरी की गायी कव्वाली 'भर दो झोली' को बिना अनुमति के फिल्‍म में शामिल किया गया है।

वर्ष 2016 में प्रदर्शित करण जौहर की फिल्म ऐ दिल है मुश्किल भी विवादों से घिरी रही।
जब सारा देश जम्मू कश्मीर के उरी में हुए आतंकी हमले से शोक और गुस्से में डूबा हुआ था।
तो पाकिस्तानी कलाकारों का विरोध करते हुए इस फिल्म की रिलीज पर काफी बवाल हुआ था।
क्योंकि इसमें पाकिस्तानी मूल के दो कलाकार फवाद खान और इमरान खान ने अभिनय किया था।
अंतत: फिल्म सिनेमाघरों तक पहुंची और शानदार कमाई करने में कामयाब हुयी।

पिछले वर्ष प्रदर्शित जेंडर इक्वालिटी पर आधारित अलंकृता श्रीवास्तव की फिल्म लिपस्टिक अंडर माई बुर्का: में लिपस्टिक शब्द के प्रयोग को महिला आधारित बताते हुए इस पर आपत्ति जताई गई थी।
2017 में यह फिल्म रिलीज हो सकी।
कम बजट वाली इस फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर भी अच्छा प्रदर्शन किया था।

 

पूजा

पूजा बेदी की बेटी आलिया करेगी बॉलीवुड में डेब्यू

मुंबई 18 नवंबर (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेत्री पूजा बेदी की बेटी आलिया फर्नीचरवाला फिल्म इंडस्ट्री में डेब्यू करने
जा रही है।

जीनत

जीनत ने अभिनेत्रियों को दिलायी विशिष्ट पहचान

..जन्मदिन 19 नवंबर के अवसर पर..
मुंबई 18 नवंबर (वार्ता) बॉलीवुड में जीनत अमान को ऐसी अभिनेत्री के तौर पर शुमार किया जाता है,जिन्होंने अपने खास अंदाज से परंपरागत ढ़र्रे पर चलने वाले मुख्यधारा के सिनेमा में परिवर्तन का सूत्रपात किया और अभिनेत्रियों को विशिष्ट पहचान दिलायी।

कव्वाली

कव्वाली को संगीतबद्ध करने में महारत थे रोशन

..पुण्यतिथि 16 नवंबर के अवसर पर ..
मुंबई 15 नवंबर (वार्ता) हिंदी फिल्मों में जब कभी कव्वाली का जिक्र होता है तो संगीतकार रोशन का नाम सबसे पहले लिया जाता है ।

ठग्स

ठग्स ऑफ हिंदोस्तान के रिलीज को लेकर नर्वस हैं आमिर खान

मुंबई 07 नवंबर (वार्ता) बॉलीवुड के मिस्टर परफेक्शनिस्ट आमिर खान अपनी आने वाली फिल्म ठग्स ऑफ हिंदोस्तान के रिलीज को लेकर नर्वस हैं।

सलिल

सलिल ने गीतों से देशभक्ति के जज्बे को बुलंद किया

मुंबई 18 नवंबर (वार्ता) भारतीय सिनेमा जगत में सलिल चौधरी का नाम एक ऐसे संगीतकार के रूप मे याद किया जाता है,जिन्होंने अपने संगीतबद्ध गीतों से लोगों के बीच देशभक्ति के जज्बे को बुलंद किया।

अक्षय

अक्षय और जॉन की फिर होगी बॉक्स ऑफिस पर टक्कर

मुंबई 17 नवंबर (वार्ता) बॉलीवुड के खिलाड़ी कुमार अक्षय कुमार और माचो मैन जॉन अब्राहम के बीच अगले साल
भी बॉक्स ऑफिस पर टक्कर होगी।

किंग

किंग खान के रूप में पहचान बनायी शाहरूख ने

(जन्मदिन 02 नवंबर के अवसर पर)
मुंबई, 01 नवंबर (वार्ता) छोटे पर्दे से अपने करियर की शुरूआत करके बॉलीवुड में किंग खान के रूप में पहचान बनाने वाले अभिनेता शाहरुख खान आज भी सिने प्रेमियों के दिलों पर राज करते है।

आलोचनाओं

आलोचनाओं को स्वीकार करते हैं अमिताभ

मुंबई 17 नवंबर (वार्ता) बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन का कहना है कि वह आलोचनाओं को स्वीकार करते हैं।

हर

हर अभिनेता के रंग में रंग जाती थीं माला सिन्हा

... जन्मदिन 11 नवंबर के अवसर पर
मुम्बई 10 नवम्बर(वार्ता) बॉलीवुड में माला सिन्हा उन गिनी चुनी चंद अभिनेत्रियों में शुमार की जाती हैं जिनमें खूबसूरती के साथ बेहतरीन अभिनय का भी संगम देखने को मिलता है।

गुलाम

गुलाम हैदर ने पहचाना था लता की प्रतिभा को

(पुण्यतिथि नौ नवंबर के अवसर पर)
मुंबई 08 नवंबर (वार्ता) लता मंगेशकर के सिने करियर के शुरूआती दौर में कई निर्माता-निर्देशक और संगीतकारों ने पतली आवाज के कारण उन्हें गाने का अवसर नहीं दिया लेकिन उस समय एक संगीतकार ऐसे भी थे जिन्हें लता मंगेशकर की प्रतिभा पर पूरा भरोसा था और उन्होंने उसी समय भविष्यवाणी कर दी थी ..यह लड़की आगे चलकर इतना अधिक नाम करेगी कि बड़े से बड़े निर्माता, निर्देशक और संगीतकार उसे अपनी फिल्म में गाने का मौका देंगे।

पॉप गायिकी को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलायी माइकल जैक्सन ने

पॉप गायिकी को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलायी माइकल जैक्सन ने

..जन्मदिवस 29 अगस्त के अवसर पर ..
मुंबई 28 अगस्त(वार्ता)किंग ऑफ पॉप माइकल जैक्सन को ऐसी शख्सियत के तौर पर याद किया जाता है जिन्होंने पॉप संगीत की दुनिया को पूरी तरह बदलकर अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान बनायी है।

माय वर्जिन डायरी डिजिटल प्लेटफार्म पर मचा रही धूम

माय वर्जिन डायरी डिजिटल प्लेटफार्म पर मचा रही धूम

नयी दिल्ली 25 मार्च (वार्ता) दिल्ली विश्वविद्यालय के हिन्दू कॉलेज के छात्रों की जिंदगी पर आधारित फिल्म माय वर्जिन डायरी डिजिटल प्लेटफार्म जिओ सिनेमा, एयरटेल मूवीज, बिगफ्लिक्स, चिल्क्स, हंगामा मूवी, नेट्टीवुड आदि के जरिये वैश्विक स्तर पर धूम मचा रही है।

रियलिटी शो अवसर सिद्ध करने का मजबूत प्लेटफार्म : तान्या

रियलिटी शो अवसर सिद्ध करने का मजबूत प्लेटफार्म : तान्या

लखनऊ 26 अक्टूबर (वार्ता) नन्ही पार्श्व गायिका तान्या तिवारी का मानना है कि छोटे पर्दे पर रियलिटी शो की भरमार ने चुनौतियों के बावजूद अवसरों को यर्थाथ में बदलने का मजबूत प्लेटफार्म युवा गायकों को मुहैया कराया है।

अभिनेता बनना चाहते थे मुकेश

अभिनेता बनना चाहते थे मुकेश

..पुण्यतिथि 27 अगस्त के अवसर पर ..
मुंबई 26 अगस्त (वार्ता)भारतीय सिनेमा जगत में मुकेश ने भले ही अपने पार्श्व गायन से लगभग तीन दशक तक श्रोताओं को दीवाना बनाया लेकिन वह अपनी पहचान अभिनेता के तौर पर बनाना चाहते थे।

जीनत ने अभिनेत्रियों को दिलायी विशिष्ट पहचान

जीनत ने अभिनेत्रियों को दिलायी विशिष्ट पहचान

..जन्मदिन 19 नवंबर के अवसर पर..
मुंबई 18 नवंबर (वार्ता) बॉलीवुड में जीनत अमान को ऐसी अभिनेत्री के तौर पर शुमार किया जाता है,जिन्होंने अपने खास अंदाज से परंपरागत ढ़र्रे पर चलने वाले मुख्यधारा के सिनेमा में परिवर्तन का सूत्रपात किया और अभिनेत्रियों को विशिष्ट पहचान दिलायी।

image