Wednesday, Feb 24 2021 | Time 22:30 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • लोजपा कार्यकर्ताओं ने थामा जद-यू का दामन
  • उत्तराखंड में करंट लगने से महिला, घोड़े की मौत
  • अक्षर और अश्विन ने इंग्लैंड को 112 रन पर किया ढेर, भारत ने मैच पर कसा शिकंजा
  • अक्षर और अश्विन ने इंग्लैंड को 112 रन पर किया ढेर, भारत ने मैच पर कसा शिकंजा
  • मोटेरा स्टेडियम का नाम मोदी के नाम करना अधिनायकवाद मनोवृत्ति का परिचायक-डोटासरा
  • डिजिटल कंपनी के चयन में गड़बड़ी पर सरकार से जवाब तलब
  • तीसरे टेस्ट के पहले दिन का स्कोरबोर्ड
  • बजट में वादे तो हैं, इरादे दूर दूर तक नहीं दिखाई देते - वसुंधरा
  • सरकार का 100 संपदाओं के मौद्रिकरण का लक्ष्य: मोदी
  • बलिया में बाइक पर बिजली का तार टूट गिरा,तीन दोस्तों की मृत्यु
  • ललितपुर में ट्रेन से गिरकर युवक की मौत
  • पंचायत चुनाव में मतदाता सूची की शुद्धता सुनिश्चित करें: मनोज कुमार
  • नक्सली विस्फोट में दो जवान शहीद, एक घायल
  • बुलंदशहर में 50 लाख की शराब बरामद,एक तस्कर गिरफ्तार
राज्य » मध्य प्रदेश / छत्तीसगढ़


इंदौर के गौतमपुरा में सामने आये विवाद के 23 आरोपी गिरफ्तार, स्थिति नियंत्रण में

इंदौर, 30 दिसंबर (वार्ता) मध्यप्रदेश के इंदौर जिले के गौतमपुरा थाना क्षेत्र में एक रैली के दौरान विवाद के कारण पथराव की घटना सामने आने के मामले में पुलिस ने आज शाम तक 23 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। प्रशासन की मुस्तैदी के चलते स्थिति पूरी तरह नियंत्रण में हैं।
आधिकारिक जानकारी के अनुसार इंदौर जिला कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी मनीष सिंह ने स्पष्ट तौर पर कहा है कि ज़िले में कहीं पर भी क़ानून व्यवस्था का उल्लंघन करने पर प्रशासन द्वारा कठोरतम कार्यवाही की जाएगी। कलेक्टर के निर्देश पर अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी अजय देव शर्मा ने जन सामान्य के हित, जानमाल एवं लोक शांति को बनाये रखने के लिए थाना गौतमपुरा क्षेत्र में स्थित ग्राम पंचायत चांदनखेडी, धर्माट, रुद्राख्या, सुनाला, देवराखेडी एवं नगर परिषद गौतमपुरा तथा नगर परिषद सांवेर क्षेत्र में दण्ड प्रक्रिया संहिता के तहत प्रतिबंधात्मक आदेश लागू किया है।
कल 29 दिसंबर से जारी तथा प्रभावशील उक्त आदेशानुसार उक्त थाना क्षेत्र सीमा के अन्तर्गत पांच या पांच से अधिक व्यक्तियों का समूह बिना सक्षम दंडाधिकारी की अनुमति के एकत्रित नहीं हो सकेंगे। इस क्षेत्र में ड्यूटी पर उपस्थित पुलिस सशक्त सेनाएं, अधिकारी के अतिरिक्त किसी अन्य के द्वारा संघात्मक, धारदार हथियार, आग्नेय शस्त्र न तो धारण किये जायेंगे और न ही उनका परिवहन किया जायेगा।
इस प्रतिबंधित क्षेत्र में कोई भी जूलूस, आम सभा, रैली, धरना प्रदर्शन एवं अन्य गतिविधियां बिना पूर्व एवं सक्षम अनुमति के नहीं की जा सकेगी। किसी भी व्यक्ति, समूह के द्वारा किसी वर्ग, धर्म व्यक्ति विशेष या दल विशेष के विरूद्ध कोई भी क्षुब्धता पूर्ण नारेबाज़ी या आपसी आक्रोश को बढ़ावा देने वाली कोई कार्यवाही नहीं की जायेगी। कोई भी ऐसा कार्य जिससे जन आक्रोश तथा लोक शांति को प्रभाव पड़ता हो, नहीं किया जायेगा।
थाना प्रभारी गौतमपुरा द्वारा अवगत कराया गया कि 29 दिसंबर 2020 को धर्माट से चांदनखेडी, कनवासा, सुनाला से वापस रुद्राख्या होकर खडोत्या तक एक जनजागरण वाहन रैली का आयोजन था। जिसमें ग्राम चांदनखेडी में पथराव हो जाने से एवं रैली का विरोध करने से उक्त रैली में शामिल लोगों पर कुछ लोगों द्वारा पथराव किये जाने के बाद ग्राम चांदनखेडी सहित आस-पास के ग्रामों में सांप्रदायिक तनाव एवं कानून व्यवस्था, बिगडने की स्थिति निर्मित हुई थी। जिसके कारण जिला एवं पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों को मौके पर उपस्थित होकर कानून व्यवस्था की स्थिति संभालनी पडी।
इसी संबंध में पुलिस उपमहानिरीक्षक हरिनारायणचारी मिश्र ने बताया कि कल एक बजे घटना सामने आने के बाद पुलिस ने अब तक चार प्रकरण दर्ज कर कुल 25 से ज्यादा आरोपियों की चिन्हित कर लिया था। इनमे से अब तक 23 से ज्यादा आरोपियों की गिरफ़्तारी कर ली गई हैं। शांति और कानून व्यवस्था बनाये रखने के उद्देश्य से प्रभावित क्षेत्रों में अतिरिक्त पुलिस बल तैनात किया गया हैं।
घटना में घायल हुए लोगों का स्वस्थ सामान्य है। वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के साथ प्रशासनिक अधिकारी स्थिति पर पैनी नजर रख रहे हैं।
पुलिस अधीक्षक महेश चंद्र जैन ने बताया कि कल इस घटना के सामने आने के बाद प्रथम दृष्टया लापरवाह पाए गए गौतमपुरा थाने के पुलिस निरीक्षक आर सी भास्करे को निलंबित किया गया है। इसके साथ ही एसडीओपी सांवेर पंकज दीक्षित को भी समुचित गंभीरता न बरतने के सामने आये आरोप के चलते लाइन हाजिर किया गया है।
जितेंद्र बघेल
वार्ता
image