Friday, Oct 30 2020 | Time 21:16 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • बिहार में प्रथम चरण के चुनाव में पुनर्मतदान की जरूरत नहीं
  • रिलायंस जियो का तिमाही मुनाफा तीन गुना बढ़ा
  • गिरिडीह में सड़क हादसे में सीआरपीएफ के कई जवान घायल
  • वडोदरा में सोना आभूषण के साथ लुटेरा गिरफ्तार
  • रद्द रद्द रद्द
  • बाढ़ प्रभावित किसानों की उपेक्षा के लिये आंध्र प्रदेश सरकार पर तेदेपा का हमला
  • टेलर के शतक के बावजूद हारा जिम्बाब्वे, पाकिस्तान को बढ़त
  • म्यांमार में कोरोना के 1093 नए मामले,20 मौतें
  • कोरोना राहत के लिए जेजेपी ने किया करीब 14 लाख रूपये का और अनुदान
  • झारखंड में अबुआ शासन से ही विकास संभव : हेमंत
  • झारखंड के साथ सौतेला व्यवहार कर रहा केंद्र : सुबोधकांत
  • हरियाणा में कोरोना के 1650 नये मामले, कुल संख्या 165467 हुई, 1777 मौतें
  • हेमंत सरकार अगले दो तीन महीने में अपने कर्मों से गिर जायेगी : दीपक प्रकाश
  • दस लाख टन आलू का आयात होगा
  • राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आरक्षण मोर्चा ने जदयू को समर्थन देने की घोषणा की
राज्य » अन्य राज्य


प्रख्यात गायक एस पी बालासुब्रमण्यम नहीं रहे

चेन्नई, 25 सितम्बर (वार्ता) खनकती एवं सुरीली आवाज से गायकी की दुनिया में अलग पहचान बनाने वाले लोकप्रिय पार्श्वगायक एस पी बालासुब्रमण्यम का शुक्रवार को कोरोना वायरस के संक्रमण के कारण निधन हो गया। वह 74 रिपीट 74 वर्ष के थे।
कोरोना वायरस से संक्रमित होने के बाद श्री बालासुब्रमण्यम को पांच अगस्त को यहां के एमजीएम अस्पताल में भर्ती कराया गाया था। अस्पताल ने आज अपराह्न मीडिया को बताया कि श्री बालासुब्रमण्यम का निधन हो गया।
अस्पताल प्रशासन ने कल शाम स्वास्थ्य बुलेटिन जारी करके प्रख्यात गायक की स्थिति अत्यंत खराब होने की सूचना दी थी। श्री बालासुब्रमण्यम के पुत्र एसपीबी चरण ने पिता के निधन की जानकारी देते हुए कहा कि उन्होंने अपराह्न एक बजकर चार मिनट पर अंतिम सांस ली।
संगीत की दुनिया के बेताज बादशाह के निधन की खबर से प्रशंसकों में शोक की लहर दौड़ गई है। श्री बालासुब्रमण्यम की लाजवाब एवं सुरीली आवाज ने विश्वभर के संगीत प्रेमियों को उनका दीवाना बना दिया था। पांच दशक तक उन्होंने अपनी आवाज का जादू बिखेरा।
तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने श्री बालासुब्रमण्यम के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है। श्री राव ने अपने शोक संदेश में कहा कि हजारों गीतों को सुरीली आवाज देने वाले और प्रशंसकों द्वारा बालू के नाम से पुकारे जाने वाले श्री बालासुब्रमण्यम ने विश्वभर में अपने प्रशंसक बनाये।
उन्होंने कहा कि यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है कि चिकित्सकों और अन्य मेडिकल स्टाफ की हर संभव कोशिश के वाबजूद श्री बालासुब्रमण्यम को बचाया नहीं जा सका। उनकी कमी को पूरा नहीं किया जा सकता। मुख्यमंत्री ने शोकसंतप्त परिजनों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त की है।
आशा.श्रवण
जारी वार्ता
image