Thursday, Sep 19 2019 | Time 14:03 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • आदर्श ग्राम विकास केंद्र को समर्पित करेंगे प्रणव पंडया
  • तेजस देश के रक्षा शोध संस्थानों की सबसे बडी उपलब्धि: राजनाथ सिंह
  • तेजस देश के रक्षा शोध संस्थानों की सबसे बडी उपलब्धि
  • अफगानिस्तान में हुवाई हमले में 30 की मौत, 45 घायल
  • बोको हराम को मुंहतोड़ जवाब देगा कैमरून
  • भारतीय टीम अपराजेय नहीं: बावुमा
  • भारतीय टीम अपराजेय नहीं: बावुमा
  • तेज रफ्तार बस की चपेट में आने से युवक की मौत
  • सुरेन्द्र नागर और संजय सेठ ने राज्यसभा की सदस्यता की शपथ ली
  • कोलकाता में व्यक्ति ने मेट्रो के सामने कूद कर दी जान
  • निम्रिता की पोस्टमार्टम रिपोर्ट पर विशेषग्यों ने उठाए सवाल
  • सडक हादसे में चालक सहित चार की मौत
  • अफगानिस्तान के खाेजिआनी जिले में हवाई हमले में 30 की मौत, 45 घायल
  • मरने के बाद भी ‘करवट’ बदलते हैं लोग:अनुसंधान
  • आइफा में रणवीर और आलिया का जलवा
मनोरंजन » कला एवं रंगमंच


देशभक्ति गीत लिखने में माहिर थे प्रेम धवन

देशभक्ति गीत लिखने में माहिर थे प्रेम धवन

.. पुण्यतिथि 07 मई के अवसर पर..
मुंबई 06 मई (वार्ता) बॉलीवुड में प्रेम धवन को एक ऐसे गीतकार के तौर पर याद किया जाता है जिनके देशभक्ति से परिपूर्ण गीतों की सुमधुर ध्वनि कान में पड़ते ही आज भी आम भारतीय राष्ट्र प्रेम की भावना से सराबोर हुये बगैर नहीं रह पाता।

प्रेम धवन का जन्म 13 जून 1923 को पंजाब के अंबाला में हुआ था।
उन्होंने अपनी स्नातक की पढ़ाई लाहौर के मशहूर एफ.सी.कॉलेज से पूरी की।
उन्होंने संगीत की शिक्षा पंडित रवि शंकर से हासिल की।
साथ ही उदय शंकर से नृत्य की भी शिक्षा ली।
प्रेम धवन ने अपने सिने करियर की शुरूआत संगीतकार खुर्शीद अनवर के सहायक के तौर पर वर्ष 1946 में प्रदर्शित फिल्म पगडंडी से की।
बतौर गीतकार उन्हें वर्ष 1948 में बांबे टॉकीज निर्मित फिल्म ..जिद्दी..में गीत लिखने का मौका मिला लेकिन फिल्म की असफलता के कारण वह कुछ ख़ास पहचान नहीं बना पाये।
पार्श्वगायक किशोर कुमार ने भी फिल्म ..जिद्दी ..से ही अपने सिने कैरियर की शुरूआत की थी ।

अपने वजूद को तलाशते प्रेम धवन को बतौर गीतकार पहचान बनाने के लिये लगभग सात वर्ष तक फिल्म इंडस्ट्री मे संघर्ष करना पड़ा।
इस दौरान उन्होंने जीत,आरजू,बड़ी बहू,अदा,मोती महल,आसमान,ठोकर और डाक बाबू
जैसी कई बी और सी ग्रेड की फिल्में भी की लेकिन इन फिल्मों से उन्हें कुछ खास फायदा नहीं हुआ।
वर्ष 1955 में प्रदर्शित फिल्म ..वचन ..की कामयाबी के बाद प्रेम धवन बतौर गीतकार कुछ हद तक अपनी पहचान बनाने मे सफल
हो गये ।
फिल्म ..वचन ..का यह गीत ..चंदा मामा दूर के ..श्रोताओं में आज भी लोकप्रिय है।
इसके बाद वर्ष 1956 में उन्होंने फिल्म ..जागते रहो ..के लिये जागो मोहन प्यारे गीत लिखा जो हिट हुआ ।

वर्ष 1961 में संगीत निर्देशक सलिल चौधरी के संगीत निर्देशन में फिल्म..काबुली वाला .. की सफलता के बाद प्रेम धवन शोहरत की बुंलदियो पर जा पहुंचे।
फिल्म काबुली वाला में पार्श्वगायक मन्ना डे की आवाज में प्रेम धवन का यह गीत ..ए मेरे प्यारे वतन ऐ मेरे बिछड़े चमन ..आज भी श्रोताओं की आंखों को नम कर देता है।
इन सबके साथ वर्ष 1961 में प्रेम धवन की एक और सुपरहिट फिल्म ..हम हिंदुस्तानी .. प्रदर्शित हुई जिसका गीत ..छोड़ो कल की बातें कल की बात पुरानी ..सुपरहिट हुआ ।

       वर्ष 1965 प्रेम धवन के सिने कैरियर का अहम वर्ष साबित हुआ।
अभिनेता मनोज कुमार के कहने पर उन्होंने ने फिल्म शहीद के लिये संगीत निर्देशन किया।
यूं तो फिल्म शहीद के सभी गीत सुपरहिट हुए लेकिन ..ऐ वतन ऐ वतन ..और मेरा रंग दे बंसती चोला.. आज भी श्रोताओं में बहुत लोकप्रिय है।
फिल्म शहीद के बाद प्रेम धवन ने कई फिल्मों के लिये संगीत दिया ।

बहुमुखी प्रतिभा के धनी प्रेम धवन ने नृत्य निर्देशक के तौर पर भी काम किया।
वर्ष 1957 में प्रदर्शित फिल्म ..नया दौर .. के गीत उड़े जब जब जुल्फें तेरी ..का नृत्य निर्देशन प्रेम धवन ने किया।
इसके अलावा दो बीघा जमीन, सहारा और धूल का फूल में भी प्रेम धवन ने नृत्य निर्देशन किया।
वह अपने सिने करियर के दौरान इप्टा: इंडियन पीपुल्स थियेटर: के सक्रिय सदस्य बने रहे।
त्रिवेणी पिक्चर्स के बैनर तले प्रेम धवन ने कई फिल्मों का निर्माण और निर्देशन भी किया।
इन फिल्मों के जरिये प्रेम धवन ने परिवार नियोजन, राष्ट्रीयता और सामाजिक मुद्दे को दर्शकों के सामने पेश किया ।

देशभक्ति की भावना से परिपूर्ण प्रेम धवन ने सैनिकों के मनोरंजन के लिये लद्दाख और नाथूला में सुनील दत्त तथा नरगिस दत्त के साथ दौरा करके अपने गीत-संगीत से सैनिकों का मनोरंजन किया।
वर्ष 1970 में फिल्म जगत में उनके योगदान को देखते हुये भारत सरकार ने उन्हें पद्मश्री से सम्मानित किया।
उन्होंने अपने सिने करियर में लगभग 300 फिल्मों के लिये गीत लिखे।
अपने गीतों से लगभग चार दर्शक तक श्रोताओं को मंत्रमुग्ध करने वाले गीतकार प्रेम धवन 07 मई 2001 को इस दुनिया को अलविदा कह गये।

अर्थपूर्ण

अर्थपूर्ण फिल्में बनाने में माहिर रहे हैं महेश भट्ट

..जन्मदिवस 20 सितंबर..
मुंबई 19 सितंबर (वार्ता) बॉलीवुड में महेश भट्ट को एक ऐसे फिल्मकार के रूप में शुमार किया जाता है जिन्होंने अर्थपूर्ण और सामाजिक फिल्में बनाकर दर्शको को अपना दीवाना बनाया है ।

पृथ्वीराज

पृथ्वीराज में अहम किरदार निभाएंगे संजय दत्त

मुंबई 19 सितंबर (वार्ता) बॉलीवुड के माचो मैन संजय दत्त फिल्म ‘पृथ्वीराज’ में अहम किरदार निभाते नजर आ सकते हैं।

प्रियंका

प्रियंका दीदी से तुलना नही कर सकती : मीरा चोपड़ा

मुंबई 19 सितंबर (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेत्री मीरा चोपड़ा का कहना है कि वह अपनी तुलना अपनी कजिन एवं अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा से कभी नही कर सकती है।

हॉरर

हॉरर फिल्मों के शंहशाह श्याम रामसे का निधन

मुंबई, 18 सितंबर (वार्ता) हॉरर फिल्मों के शंहशाह माने जाने वाले फिल्मकार श्याम रामसे का आज यहां निधन हो गया।

आइफा

आइफा में रणवीर और आलिया का जलवा

मुंबई 19 सितंबर (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेता रणवीर सिंह को फिल्म ‘पद्मावत’ और आलिया भट्ट को फिल्म राजी के लिये 20 वें अंतरराष्ट्रीय भारतीय फिल्म अकादमी (आइफा) समारोह में सर्वश्रेष्ठ अभिनेता और अभिनेत्री का पुरस्कार दिया गया है।

ऋतिक

ऋतिक और प्रभास को लेकर फिल्म बनायेंगे नितेश तिवारी

मुंबई 18 सितंबर (वार्ता) बॉलीवुड निर्देशक नितेश तिवारी माचो मैन ऋतिक रौशन और दक्षिण भारतीय फिल्मों के सुपरस्टार प्रभास को लेकर फिल्म बना सकते हैं।

भूल-भूलैया

भूल-भूलैया 2 में कार्तिक के साथ काम करेंगी कियारा

मुंबई 18 सितंबर (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेत्री कियारा आडवाणी ‘भूल-भूलैया’ के सीक्वल में कार्तिक आर्यन के साथ काम करती नजर आ सकती हैं।

‘साहो’

‘साहो’ की कामयाबी पर खुश है श्रद्धा कपूर

मुंबई 18 सिंतबर (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेत्री श्रद्धा कपूर फिल्म ‘साहो’ को मिल रही कामयाबी पर बेहद खुश है।

सौ

सौ करोड़ के क्लब में शामिल हुयी ‘छिछोरे’

मुंबई 18 सितंबर (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत और श्रद्धा कपूर की जोड़ी वाली फिल्म ‘छिछोरे’ 100 करोड़ के क्लब में शामिल हो गयी है।

आनंद

आनंद नाम को लकी मानती है सोनम कपूर

मुंबई, 18 सितंबर (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेत्री सोनम कपूर का कहना है कि वह ‘आनंद’ नाम को अपने लिये लकी मानती है।

दिल्ली में भी होगा फिल्म उद्योग, डियोरामा अंतरराष्ट्रीय फिल्म समारोह आरंभ

दिल्ली में भी होगा फिल्म उद्योग, डियोरामा अंतरराष्ट्रीय फिल्म समारोह आरंभ

नयी दिल्ली 15 जनवरी (वार्ता) दिल्ली में भी फिल्म उद्योग स्थापित करने के मकसद से पहले डियोरामा अंतरराष्ट्रीय फिल्म समारोह एवं विपणन 2019 की कल रात यहां देश-विदेश के फिल्मी जगत के लोगों की मौजूदगी में शुरूआत हुयी।

शंकर और जयकिशन के बीच भी हुयी थी अनबन

शंकर और जयकिशन के बीच भी हुयी थी अनबन

. जयकिशन पुण्यतिथि 12 सितंबर के अवसर पर .
मुंबई 11 सितंबर (वार्ता) भारतीय सिनेमा जगत में सर्वाधिक कामयाब संगीतकार जोड़ी शंकर -जयकिशन ने अपने सुरो के जादू से श्रोताओं को कई दर्शकों तक मंत्रमुग्ध किया और उनकी जोड़ी एक मिसाल के रूप में ली जाती थी लेकिन एक वक्त ऐसा भी आया जब दोनो के बीच अनबन हो गयी थी।

image