Saturday, Jul 4 2020 | Time 17:03 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • चीन के सुपर डैन ने लिया संन्यास
  • सतपाल महाराज ने की कुंभ कार्यों की समीक्षा
  • “जियोमीट” पर 100 लोग को एक साथ असीमित फ्री वीडियो कॉलिंग सुविधा, जूम को मिलेगी टक्कर
  • मोदी के लद्दाख दौरे से सेना का मनोबल बढ़ा: गिल
  • औरंगाबाद में कोरोना के 196 नए मामले
  • भारतीय हॉकी कोचों और तकनीकी अधिकारियों के लिए ऑनलाइन वर्कशॉप
  • भारतीय हॉकी कोचों और तकनीकी अधिकारियों के लिए ऑनलाइन वर्कशॉप
  • पोरबंदर-शालीमार पार्सल स्पेशल ट्रेन तीन और स्टेशनों पर रुकेगी
  • तटरक्षक दल ने गुजरात के निकट टापू से बरामद किये और चरस, अब तक हो चुकी है 18 करोड़ के मादक पदार्थ की बरामदगी
  • सिरसा और हिसार में राष्ट्रीय राजमार्ग पर उतरेंगे लड़ाकू विमान
  • कोल्हापुर में 10 नये लोग कोरोना पॉजिटिव
  • पाकिस्तान में 105 वर्षीय वयोवृद्ध ने कोरोना को दी मात
  • मोदी ने युवाओं को दी देसी ऐप बनाने की चुनौती
  • बंगलादेश के पूर्व मंत्री टी एम गियासुद्दीन का निधन
मनोरंजन » जानीमानी हस्तियों का जन्म दिन


सरकारी नौकरी करना चाहते थे राजेश रौशन

सरकारी नौकरी करना चाहते थे राजेश रौशन

..जन्मदिन 24 मई
मुंबई, 23 मई (वार्ता) बालीवुड के मशहूर संगीतकार राजेश रौशन अपने संगीत से करीब पांच दशक से श्रोताओं को मंत्रमुग्ध कर रहे है लेकिन वह संगीतकार नहीं बनकर सरकारी नौकरी करना चाहते थे ।

राजेश रौशन का जन्म 24 मई 1955 को मुंबई में हुआ।
राजेश के पिता रौशन फिल्म इंडस्ट्री के नामी संगीतकार थे।
घर में संगीत का माहौल रहने के बावजूद उनकी संगीत के में कोई रूचि नही थी।
उनका मानना था संगीतकार बनने से अच्छा है कि 10 से 5 बजे तक की सरकारी नौकरी किया जाये इससे उनका जीवन सुरक्षित रहेगा ।

राजेश रौशन के पिता की मृत्यु होने के बाद उनकी मां संगीतकार फैयाज अहमद खान से संगीत की शिक्षा लेने लगी।
उनके साथ वह भी वहां जाया करते थे।
धीरे धीरे उनका रूझान भी संगीत की ओर हो गया और वह भी फैयाज खान से संगीत की शिक्षा लेने लगे।

सत्तर के दशक में राजेश संगीतकार लक्ष्मीकांत प्यारे लाल के सहायक के तौर पर काम करने लगे।
उन्होंने लगभग पांच वर्ष तक उनके साथ काम किया।
राजेश रौशन ने संगीतकार के रूप में अपने सिने करियर की शुरूआत महमूद की 1974 में प्रदर्शित फिल्म कुंवारा बाप से की लेकिन कमजोर पटकथा के कारण फिल्म टिकट खिड़की पर बुरी तरह पिट गयी।

राजेश रौशन की किस्मत का सितारा 1975 में प्रदर्शित फिल्म जूली. चमका ।
इस फिल्म में उनके संगीतबद्ध गीत ..दिल क्या करे जब किसी को किसी से प्यार हो जाये .माई हार्ट इज बीटिंग .ये राते नयी पुरानी और जूली आई लव यू जैसे गीत श्रोताओं के बीच काफी लोकप्रिय हुये।
फिल्म और संगीत की सफलता के बाद बतौर वह संगीतकार के रूप में कुछ हद तक अपनी पहचान बनाने में कामयाब हो गये।

लगभग चार वर्ष तक मायानगरी मुंबई में संघर्ष करने के बाद राजेश रौशन को 1979 में अमिताभ बच्चन अभिनीत फिल्म मिस्टर नटवर लाल में संगीत देने का मौका मिला ।
इस फिल्म में उनका संगीतबद्ध गीत ..परदेसिया ये सच है पिया ..उन दिनों श्रोताओं के बीच काफी लोकप्रिय हुआ ।
फिल्म और संगीत की सफलता के बाद राजेश रौशन का सितारा गर्दिश से बाहर निकल गया।

.मिस्टर नटवर लाल ..राजेश रौशन के साथ ही सुपर स्टार अमिताभ बच्चन के सिने करियर के लिये भी महत्वूपूर्ण फिल्म साबित हुयी ।
इस फिल्म से पहले अमिताभ बच्चन ने फिल्मों के लिये कोई गीत नहीं गाया था।
यह राजेश रौशन ही थे जिन्होंने अमिताभ बच्चन की गायकी पर भरोसा जताते हुये उनसे फिल्म में मेरे पास आओ मेरे दोस्तो एक किस्सा सुनाउं ..गीत गाने की पेशकश की ।
यह गीत श्रोताओं के बीच आज भी लोकप्रिय है।

राजेश रौशन अब तक दो बार सर्वश्रेष्ठ संगीतकार के फिल्मफेयर पुरस्कार से सम्मानित किये जा चुके है।
वर्ष 1975 में प्रदर्शित फिल्म ..जूली ..के लिये सबसे पहले उन्हें सर्वश्रेष्ठ संगीतकार का फिल्मफेयर पुरस्कार दिया गया था।
इसके बाद 2000 में प्रदर्शित फिल्म ..कहो ना प्यार है ..के लिये भी उन्हें सर्वश्रेष्ठ संगीतकार का फिल्मफेयर पुरस्कार मिला ।
राजेश रौशन लगभग 125 फिल्मों के लिये संगीत निर्देशन कर चुके है।

 

फिल्म

फिल्म की शूटिंग से पहले योग सीख रही हैं दीपिका पादुकोण

मुंबई 04 जुलाई (वार्ता) बॉलीवुड की डिंपल गर्ल दीपिका पादुकोण अपनी नयी फिल्म की शूटिंग के पहले योग सीख रही है।

फिल्म

फिल्म की शूटिंग से पहले योग सीख रही हैं दीपिका पादुकोण

मुंबई 04 जुलाई (वार्ता) बॉलीवुड की डिंपल गर्ल दीपिका पादुकोण अपनी नयी फिल्म की शूटिंग के पहले योग सीख रही है।

प्रियंका

प्रियंका के एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री में 20 साल पूरे

मुंबई 04 जुलाई (वार्ता) बॉलीवुड के साथ ही हॉलीवुड में कामयाबी का परचम लहरा चुकी प्रियंका चोपड़ा ने एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री में 20 साल पूरे कर लिये हैं।

बॉलीवुड

बॉलीवुड की मशहूर कोरियोग्राफर सरोज खान का निधन

मुंबई,03 जुलाई (वार्ता) बाॅलीवुड की मशहूर कोरियोग्राफर सरोज खान का शुक्रवार तड़के हृदयाघात से बांद्रा के गुरु नानक अस्पताल में निधन हो गया।

सरोज

सरोज खान ने फिल्मफेयर अवार्ड में कोरियोग्राफरों को दिलायी पहचान

मुंबई 03 जुलाई (वार्ता) बॉलीवुड में डांस की मल्लिका के नाम से मशहूर सरोज खान पहली कोरियोग्राफर थी जिन्हें फिल्म फेयर अवार्ड से सम्मानित किया गया।

प्रियंका-काजोल

प्रियंका-काजोल ने सरोज खान को किया याद

मुंबई 04 जुलाई (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा और काजोल ने दिग्गज कोरियोग्राफर सरोज खान को याद कर अपनी संवेदना व्यक्त की है।

‘साइकल

‘साइकल गर्ल’ ज्योति के पिता का किरदार निभायेंगे संजय मिश्रा

मुंबई 02 जुलाई (वार्ता) बिहार की बेटी ‘साइकल गर्ल’ ज्योति पर बनने वाली फिल्म में संजय मिश्रा , ज्योति के पिता का किरदार निभाते नजर आयेंगे।

बिना

बिना पैसे के सरोज खान से डांस सीखना चाहते थे गोविंदा

मुंबई 04 जुलाई (वार्ता) बॉलीवुड के डासिंग स्टार गोविंदा का कहना है कि वह डांस की मल्लिका और कोरियोग्राफर सरोज खान से बिना पैसे के डांस सीखना चाहते थे।

बाल

बाल कलाकार से कोरियोग्राफर बनीं सरोज खान

मुंबई 03 जुलाई (वार्ता) बाल कलाकार के तौर पर अपने करियर की शुरूआत कर बॉलीवुड में सभी स्टार्स को अपनी ताल पर नचाने वाली सरोज खान ने कोरियोग्राफर के रूप में अपनी सशक्त पहचान बनायी।

संवाद अदायगी के बादशाह थे राजकुमार

संवाद अदायगी के बादशाह थे राजकुमार

.. पुण्यतिथि 03 जुलाई  ..
मुंबई 02 जुलाई (वार्ता) हिन्दी सिनेमा जगत में यूं तो अपने दमदार अभिनय से कई सितारों ने दर्शकों के दिलों पर राज किया लेकिन एक ऐसा भी सितारा हुआ जिसने न सिर्फ दर्शकों के दिल पर राज किया बल्कि फिल्म इंडस्ट्री ने भी उन्हें ..राजकुमार.. माना. वह थे ..संवाद अदायगी के बेताज बादशाह कुलभूषण पंडित उर्फ राजकुमार .. ।

बिंदास अभिनय से पहचान बनायी करिश्मा कपूर ने

बिंदास अभिनय से पहचान बनायी करिश्मा कपूर ने

.जन्मदिन 25 जून .
मुंबई, 25 जून (वार्ता) बॉलीवुड में करिश्मा कपूर को एक ऐसी अभिनेत्री के तौर पर शुमार किया जाता है जिन्होंने अभिनेत्रियों को फिल्मों में परंपरागत रूप से पेश किये जाने के तरीके को बदलकर अपने बिंदास अभिनय से दर्शको के बीच अपनी खास पहचान बनायी।

image