Saturday, Jan 25 2020 | Time 21:06 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • जॉर्ज फर्नांडीस,अरुण जेटली और सुषमा स्वराज समेत सात को पद्म विभूषण,16 को पद्मभूषण और 118 को पद्मश्री
  • सीएए आंदोलन ‘सबसे बड़ा दुषप्रचार अभियान’:
  • एसएससी ने तमिलनाडु को 3-1 से दी मात
  • एसएससी ने तमिलनाडु को 3-1 से दी मात
  • नीतीश ने दी गणतंत्र दिवस की बधाई
  • अवध वॉरियर्स की हैदराबाद हंटर्स से होगी भिड़ंत
  • पुलवामा मुठभेड़ में जैश के तीन आतंकवादी ढेर, तीन जवान घायल
  • इक्कीस लोगों को पद्मश्री पुरस्कार
  • आरिफ खान को हटाने के लिए विस में नोटिस देने की अनुमति मांगी
  • उत्तराखंड कांग्रेस पुनर्गठित, 242 नेताओं को मिली संगठन में जगह
  • ललितपुर: छह लाख की अवैध शराब बरामद
  • भाजपा विस चुनाव हारी नहीं, शिवसेना ने धोखा दिया: गडकरी
  • उत्तराखंड कांग्रेस पुनर्गठित, 242 नेताओं को मिली संगठन में जगह
  • उत्तराखंड भाजपा अध्यक्ष भगत की विधानसभा में बनाया जाएगा स्टेडियम
  • केंद्र सरकार ने कोरोना वायरस पर स्थिति की समीक्षा की
राज्य » गुजरात / महाराष्ट्र


50 साल पुरानी फिल्में फिल्म समारोह का आकर्षण

पणजी 20 नवंबर (वार्ता) गोवा की राजधानी पणजी में बुधवार से शुरू हुए 50वें अंतरराष्ट्रीय फ़िल्म समारोह में 10 भारतीय भाषाओं की 11 ऐसी चर्चित फिल्में भी दिखाई जा रही है जिसने इस वर्ष 50 साल पूरे कर लिए।
इन फिल्मों में बॉक्स ऑफिस पर हिट फिल्म आराधना के अलावा सत्यकाम और भारत रत्न से सम्मानित फ़िल्म निर्देशक सत्यजीत रे की चर्चित फिल्म गोपी गायने बाघा बायने भी शामिल है। इनमें से कई फिमों को राष्ट्रीय पुरस्कार भी मिल चुके हैं। नौ दिन तक चलने वाले इस समारोह में हिंदी और बंगला के अलावा तमिल, तेलगु, कन्नड़, असमी, मराठी, पंजाबी, उड़िया और मलयालम भाषा की चुनिंदा फिल्में भी दिखाई जाएगी जिनके निर्माण के 50 साल इस वर्ष हो गए। ये सभी फिल्में 1969 में बनी थी।
गौरतलब है कि यह स्वर्ण जयंती समारोह है। इसलिए इसमें ये फिल्में भी विशेष रूप से दिखाई जा रही हैं। इनमें मलयालम फ़िल्म आदिमकाल, असमी फ़िल्म डॉ बेजबरुआ, तमिल फिल्म इरु कोदुगल, पंजाबी फिल्म नानक नाम जहाज है, उड़िया फ़िल्म स्त्री, मराठी फिल्म तांबड़ी माती, कन्नड़ फ़िल्म उय्यैल और तेलगु फ़िल्म वाराकटनम शामिल है। वराकटनम एनटी रामाराव की फ़िल्म है। नानक नाम जहाज में पृथ्वी राज कपूर और आई एस जौहर हैं। निर्देशक राम माहेश्वरी है। इरु कोदुगल में शिवाजी गणेशन है। इसके निर्देशक के बालाचंदर हैं। आराधना शक्ति सामंत की फ़िल्म है जिसमे राजेश खन्ना और शर्मिला टैगोर हैं। इसमें किशोर कुमार के गाने ...मेरे सपनों की रानी कब आएगी... ने तब धूम मचा दी थी और यह गाना आज भी यादगार बना हुआ है। सत्यकाम के निर्देशक हृषिकेश मुखर्जी थे। इसमें धर्मेंद्र, संजीव कुमार एवं अशोक कुमार भी थे। इसके अलावा शर्मिला टैगोर भी थीं। नई पीढ़ी के दर्शकों को 50 साल पुरानी फिल्में देखने का यह अनुपम अवसर होगा।
अरविन्द.संजय
वार्ता
More News
यूएमसी ने केनरा बैंक की तीन शाखाओं को किया सील

यूएमसी ने केनरा बैंक की तीन शाखाओं को किया सील

25 Jan 2020 | 6:55 PM

ठाणे, 25 जनवरी (वार्ता) महाराष्ट्र में ठोणे उल्हासनगर नगर निगम (यूएमसी) ने बकाया करों की वसूली के लिए शहर में केनरा बैंक की तीन शाखाओं को सील कर दिया।

see more..
image