Monday, Oct 14 2019 | Time 14:27 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • सितंबर में थोक मुद्रास्फीति 0 33 प्रतिशत पर
  • तेलंगाना में बस हड़ताल के दौरान एक और कर्मचारी ने जान दी
  • राजस्थान में अब पार्षद चुनेंगे नगर निकाय प्रमुख
  • विवादित स्थल पर दीपोत्सव के लिये अब अदालत जायेंगे साधु
  • जिलों में भी होगी पेयजल की गुणवत्ता की जांच :पासवान
  • अफगानिस्तान में हवाई हमले में नौ आतंकवादी ढेर
  • लगातार दूसरे दिन स्थिर रहे पेट्रोल-डीजल के दाम
  • निराला के कहने पर बॉम्बे टॉकीज का प्रस्ताव ठुकराया गिरिजा कुमार माथुर ने
  • सोनिया के लिए अभद्र टिप्पणी पर माफी मांगे खट्टर: कांग्रेस
  • विहिप को नहीं मिली विवादित परिसर में दीपोत्सव की मंजूरी
  • स्वर्णकार पर हमला कर चार लाख रुपए एवं सोना लूटा
  • मोबाइल पर नवंबर से उपलब्ध होगा इसरो का ‘नाविक’
  • सितंबर में थोक मुद्रास्फीति 0 33 प्रतिशत पर
राज्य » पंजाब / हरियाणा / हिमाचल


कॉलेजों में विषय बंद करने के विरोध में प्रदेशभर में आंदोलन चलाएगी एसएफआई

सिरसा, 20 सितंबर (वार्ता) स्टूडेंटस फेडरेशन ऑफ इंडिया (एसएफआई) ने हरियाणा सरकार की तरफ से 38 कॉलेजों में 100 से अधिक विषयों को बंद करने के फैसले की आलोचना करते हुए आज इसके खिलाफ प्रदेश भर में आंदोलन चलाने की घेषणा की।
एसएफआई की प्रदेशाध्यक्ष सुमन गढवाल ने आज यहां बताया कि प्रदेश सरकार ने फैसला लिया है कि हरियाणा के जिन कॉलेजों में जिस भी विषय में 30 से कम विद्यार्थी हैं । उन विषयों को बंद कर दिया जाएगा। इसी के तहत एक सूची में पाया गया है कि हरियाणा के लगभग 38 कॉलेजों में 100 से अधिक विषयों में 30 से कम विद्यार्थी हैं, इसलिए सरकार के फैसले के अनुसार इन विषयों को इन कॉलेजों से बंद कर दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि इस फैसले से गरीब विद्यार्थी अपनी पढ़ाई पूरी नहीं कर सकेंगे क्योंकि जिन कॉलेजों में ये विषय बंद होने हैं वे कॉलेज ज्यादातर ब्लॉक स्तर पर हैं । जिन्हें बने हुए भी ज्यादा समय नहीं हुआ है और इन कॉलेजों में पहले ही सुविधाओं का अभाव है। उन्होंने कहा कि बहुत ही गरीब विद्यार्थी और खासकर लड़कियां जो दूर के कॉलेजों में पढ़ने के लिए नहीं जा सकते वे ही यहां दाखिला लेते हैं । इस फैसले के बाद ये विद्यार्थी पढ़ाई से वंचित हो जाएंगे। जिन विषयों की सरकार ने सूची बनाई है उनमें ज्यादातर विषय साइंस और कॉमर्स से संबंधित हैं।
उन्होंने बताया कि ग्रामीण परिवेश के विद्यार्थी साइंस और कॉमर्स की पढ़ाई कम कर पाते हैं इस फैसले के बाद तो वे इससे भी वंचित रह जाएगें। उन्होंने बताया कि सरकार को करना तो यह चाहिए था कि इन सभी कॉलेजों में विद्यार्थियों को अच्छी सुविधाएं और अध्यापक प्रदान किए जाते ताकि विद्यार्थी अच्छे से अपनी पढ़ाई पूरी कर सकें और इन कॉलेजों में विद्यार्थियों की संख्या बढ़ सके।
एसएफआई प्रदेश सचिव सुरेंद्र ने आरोप लगाया कि हरियाणा सरकार लगातार गरीब, दलित, महिला व शिक्षा विरोधी फैसले ले रही है। यह फैसला भी ऐसा ही है जिसमें सबसे ज्यादा नुकसान गरीबों, दलितों व महिलाओं को होगा। इसी प्रकार का फैसला सरकार ने इस शैक्षणिक स्तर के शुरुआत में भी लिया था जिसमें सभी कोर्सेज की फीस दो से तीन हजार बढ़ा दी थी लेकिन एसएफआई ने पूरे प्रदेश में इसके खिलाफ आंदोलन किया और बढ़ी हुई फीस को वापिस करवाया।
सं महेश विजय
वार्ता
More News
अकाली दल एसवाईएल का पानी दे तो भाजपा प्रत्याशी हटाने का तैयार:मुख्यमंत्री

अकाली दल एसवाईएल का पानी दे तो भाजपा प्रत्याशी हटाने का तैयार:मुख्यमंत्री

13 Oct 2019 | 8:07 PM

सिरसा,13अक्तूबर(वार्ता) हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा है कि यदि शिरोमणि अकाली दल वाले हमें एसवाईएल का हरियाणा के हिस्से का पानी दे दें तो हम कालांवाली सीट को छोड़कर अपने दो उम्मीदवार चुनावी मैदान से हटाकर अकाली दल के उम्मीदवारों का समर्थन कर देंंगे।

see more..
भाजपा ने जारी किया म्हारे सपनों का हरियाणा नाम से संकल्प पत्र

भाजपा ने जारी किया म्हारे सपनों का हरियाणा नाम से संकल्प पत्र

13 Oct 2019 | 8:07 PM

चंडीगढ़ ,13 अक्तूबर (वार्ता) भारतीय जनता पार्टी की हरियाणा इकाई ने आज रविवार को जारी संकल्प पत्र को किसान युवा ,खिलाड़ी आैर पंक्ति मेंं खड़े अंतिम व्यक्ति तक का ख्याल रखा है ।

see more..
भाजपा अध्यक्ष अमित शाह कल ऐलनाबाद मेंं

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह कल ऐलनाबाद मेंं

13 Oct 2019 | 8:07 PM

सिरसा,13अक्तूबर। केंद्रीय गृह मंत्री एवं भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह 14 अक्तूबर को ऐलनाबाद विधानसभा क्षेत्र के गांव मल्लेकां आएंगे।

see more..
image