Sunday, Jan 19 2020 | Time 18:03 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • मुजफ्फरनगर के छात्र की लखनऊ सड़क दुर्घटना में मृत्यु
  • निर्भया: पवन के एक और दाव पर सोमवार को सुनवाई
  • हलवा रस्म के साथ कल से बजट की छपाई होगी शुरू
  • नागरिकता (संशोधन) कानून की आवश्यकता नहीं : शेख हसीना
  • नैनीताल में धुंए से दम घुटने से मां, बेटे की मौत
  • बुलंदशहर में अवैध वूसली के आरोप में दो पुलिसकर्मी निलंबित
  • मुख्यमंत्री से कोई विवाद नहीं है : विज
  • शास्त्रीय संगीत गायिका सुनंदा पटनायक का निधन
  • पेरियार से संबंधित बयान को लेकर रजनीकांत के खिलाफ मामला दर्ज
  • जागृत लोकतंत्र के लिए जन-आंदोलन जरूरी: गंगेश मिश्र
  • स्मिथ का तीन साल बाद शतक, ऑस्ट्रेलिया के 286
  • स्मिथ का तीन साल बाद शतक, ऑस्ट्रेलिया के 286
  • सरकार सीएए पर बातचीत के लिए तैयार: निर्मला
राज्य » राजस्थान


नई तकनीकें इजाद करें कृषि वैज्ञानिक - मिश्र

बीकानेर, 15 नवंबर (वार्ता) राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र ने कहा है कि खेती की लागत कम करने और किसानों की उत्पादन एवं आय बढ़ाने के लिये कृषि वैज्ञानिकों को नई तकनीकें इजाद करनी होंगी।
श्री मिश्र ने आज राजस्थान में बीकानेर में स्वामी केशवानंद राजस्थान कृषि विश्वविद्यालय में इंडियन सोसायटी ऑफ एक्सटेंशन एजुकेशन के 'आइएसइइ राष्ट्रीय सेमिनार.2019' के उद्घाटन सत्र को संबोधित करते हुए कहा कि भू-जल लगातार घट रहा है। ऐसे समय में इसका समुचित उपयोग करते हुए अधिकाधिक उत्पादन लेना बड़ी चुनौती है। ऐसे में कम पानी वाली फसलों के साथ ही किसानों को बागवानी, सब्जी उत्पादन, फ्लोरीकल्चर और मधुमक्खी पालन जैसे आयाम भी अपनाने होंगे। उन्होंने कहा कि कई प्रगतिशील किसानों, खासकर महिलाओं ने समन्वित खेती प्रणाली का उपयोग करते हुए अपनी आय में इजाफा किया है। यह एक मिसाल है।
श्री मिश्र ने कहा कि कम जोत वाले किसान ज्यादा हैं। ऐसे में कृषि वैज्ञानिक यह शोध करें कि किस स्थान पर किन फसलों का उत्पादन हो सकता है। किसानों तक नवीनतम तकनीकें पहुंचाने के लिए मेले, संगोष्ठियां, प्रशिक्षण आदि आयोजित किए जाएं। वैज्ञानिक, खेतों तक जाएं। मिट्टी के स्वास्थ्य का परीक्षण हो तथा इसके अनुरूप कार्ययोजना बने। उन्होंने अब भी हमारे किसान परम्परागत खेती कर रहे हैं, लेकिन परम्परागत खेती से किसानों को आशातीत आर्थिक लाभ नहीं होता। ऐसे में व्यावसायिक खेती की आवश्यकता है। उत्पादों के मूल्य संवर्धन एवं विपणन की ओर भी ध्यान देने की जरूरत है।
संजय सुनील
वार्ता
More News
चिकित्सकों के अध्ययन के लिये मरीजों का डेटा रखा जाएगा- डा़ शर्मा

चिकित्सकों के अध्ययन के लिये मरीजों का डेटा रखा जाएगा- डा़ शर्मा

19 Jan 2020 | 5:48 PM

जयपुर, 19 जनवरी (वार्ता) राजस्थान के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डाॅ. रघु शर्मा ने कहा है कि राज्य के चिकित्सा संस्थानों को जल्द ही आईटी से जोड़ा जाएगा जिससे मरीजों का लेखा-जोखा चिकित्सकों के पास रहे।

see more..
आस्ट्रेलिया में ऊंटों को मारने के मामले को अंतर्राष्ट्रीय मंच पर उठाने की मांग

आस्ट्रेलिया में ऊंटों को मारने के मामले को अंतर्राष्ट्रीय मंच पर उठाने की मांग

19 Jan 2020 | 5:36 PM

भीलवाड़ा 19 जनवरी (वार्ता) पर्यावरण एवं वन्य जीव संरक्षण संस्था पीपुल फॉर एनिमल्स (पीएफए) की राजस्थान इकाई ने ऑस्ट्रेलिया में पानी की कमी के कारण दस हजार ऊंटों को मारने के आदेश के मामले को अंतर्राष्ट्रीय मंच पर उठाने की केन्द्र सरकार से मांग की है।

see more..
अजमेर में शहीद हेमू कलाणी की याद में निकाली रैली

अजमेर में शहीद हेमू कलाणी की याद में निकाली रैली

19 Jan 2020 | 5:18 PM

अजमेर 19 जनवरी (वार्ता) राजस्थान के अजमेर में आज सिंधी पंचायत पंचशील नगर की ओर से शहीद हेमू कलाणी की याद में वाहन रैली निकाली गई।

see more..
image